Breaking News

बेरोजगार युवक ने खोल दी SBI की फर्जी शाखा


कोरोना वायरस से देश जंग लड़ रहा है। आपको बता दें कि से देश में कोरोना संकट छाया है, बार-बार आत्‍मनिर्भर होने की बात की जा रही है। सरकार ने तो इसके लिए बकायदा एक अभियान भी चलाया और विशेष पैकेज भी दिया है लेकिन आत्‍मनिर्भर होने की दिशा में कोई ऐसा हैरतअंगेज कदम भी उठा सकता है, ये आपके रहमो-गुमान में भी नहीं होगा।

आपको बता दें कि तमिलनाडु में कुछ लोगों ने मिलकर भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की ब्रांच ही खोल डाली। इतना ही नहीं ब्रांच चलाने के लिए बैंक की रसीदें और चालान जैसे डॉक्‍यूमेंट्स भी प्रिंट कर लिये हालांकि वे अपनी ब्रांच में किसी की खाता नहीं खुलवा पाए।

यह मामला है राज्‍य के कुड्डालोर जिले के पन्रुति का, जहां आरोपी एसबीआई की फर्जी ब्रांच चला रहे थे। इनमें से एक आरोपी के पिता रिटायर्ड बैंक कर्मचारी हैं एक अन्‍य आरोपी प्रिंटिंग प्रेस चलाता है जहां से उसने बैंक की रसीदें और चालान जैसे डॉक्यूमेंट प्रिंट किए थे। वहीं तीसरा आरोपी प्रिंटिंग रबर स्टाम्प का काम करता था। इतना ही नहीं इन लोगों ने नकदी गिनने वाली मशीन का भी जुगाड़ कर लिया था।
इन आरोपियों ने 3 महीने पहले ये फर्जी ब्रांच खोली थी हालांकि, ना तो वे यहां किसी का खाता खुलवा सके और ना ही पैसे का लेन-देन कर सके।

आरोपियों में एसबीआई के रिटायर्ड कर्मचारी के बेटे कमल बाबू (19) के अलावा ए. कुमार (42) और एम. मणिकम (52) को भी गिरफ्तार किया गया है।

फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है आरोपियों के खिलाफ IPC की धारा 473, 469, 484 और 109 के तहत मामला दर्ज हुआ है।

No comments