Breaking News

10 में से 9 फैन्स नहीं जानते होंगे कि इन भारतीय खिलाड़ी ने एक साथ खेला था अंडर19 वर्ल्डकप


आईसीसी अंडर-19 विश्व कप युवा क्रिकेटरों के लिए अपनी प्रतिभा दिखाने और क्रिकेट जगत में उनके आगमन की घोषणा करने का सबसे बड़ा मंच है. कई महान क्रिकेटर जैसे विराट कोहली, युवराज सिंह, वीरेंद्र सहवाग, हरभजन सिंह, बेन स्टोक्स, केन विलियमसन, और कई अन्य लोगों ने अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर के लिए एक मंच हासिल करने के लिए इस मंच का उपयोग किया.

आज इस लेख में हम 5 भारतीय जोड़ियों के बारे में जानेगे, जिन्होंने एक साथ अंडर 19 वर्ल्ड कप खेला था.

1) वीरेंद्र सहवाग, हरभजन सिंह और मोहम्मद कैफ- 1998

भारत के दो विश्व कप विजेता टीमों के दो सदस्य, वीरेंद्र सहवाग और हरभजन सिंह भी 1998 में हुए अंडर-19 विश्व कप का हिस्सा थे.

दक्षिण अफ्रीका ने उस प्रतियोगिता की मेजबानी की और पूर्व भारतीय बल्लेबाज मोहम्मद कैफ भी इस टीम का हिस्सा थे. जिसमें लक्ष्मी रतन शुक्ला और रीतिंदर सोढ़ी भी थे.

2) मोहम्मद कैफ, युवराज सिंह, और अजय रात्रा- 2000

युवराज सिंह ने अंडर-19 विश्व कप में भारतीय टीम के लिए अपने विस्फोटक प्रदर्शन के बाद प्रसिद्धि हासिल की थी. सिंह ने भारत को अपना पहला U-19 विश्व कप जीतने में मदद की.

मोहम्मद कैफ टीम के कप्तान थे, और वह सोढ़ी के साथ, अपना दूसरा विश्व कप खेल रहे थे. टीम में विकेटकीपर बल्लेबाज अजय रात्रा भी मौजूद थे.

3) पार्थिव पटेल, इरफान पठान, पॉल वाल्थाटी, मनविंदर बिस्ला और स्टुअर्ट बिन्नी- 2002

पार्थिव पटेल ने 2002 में अंडर-19 विश्व कप खेला और जल्द ही सीनियर टीम का हिस्सा बने. मनविंदर बिस्ला और पॉल वाल्थाटी ने आईपीएल से प्रसिद्दी हासिल की.

दूसरी तरफ, हरफनमौला खिलाड़ी इरफ़ान पठान और स्टुअर्ट बिन्नी ने एक सिमित अवधि के लिए भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया. पठान ने सीनियर टीम के साथ 2007 का टी 20 विश्व कप भी जीता.

4) दिनेश कार्तिक, शिखर धवन, वीआरवी सिंह, सुरेश रैना, अंबाती रायडू, आरपी सिंह, और रॉबिन उथप्पा- 2004

2004 अंडर-19 विश्व कप की भारतीय टीम के अधिकांश खिलाड़ियों ने कम से कम एक आईसीसी टूर्नामेंट जीता है और साथ ही सीनियर टीम का भी हिस्सा बने. दिनेश कार्तिक, शिखर धवन, रॉबिन उथप्पा अभी भी सक्रिय खिलाड़ी हैं.

आरपी सिंह और वीआरवी सिंह को छोड़कर बाकी सभी आईपीएल 2020 में खेलेंगे.

5) रोहित शर्मा, शाहबाज़ नदीम, चेतेश्वर पुजारा, रवींद्र जडेजा और पीयूष चावला- 2006

2006 के भारतीय अंडर-19 विश्व कप टीम ने प्रतियोगिता के फाइनल में जगह बनाई, जहां वह पाकिस्तान से हार गया था. रोहित शर्मा उस टीम के सबसे सफल खिलाड़ी रहे हैं.

शाहबाज नदीम, रवींद्र जडेजा और पीयूष चावला भारतीय स्पिन गेंदबाजी आक्रमण के बहुमूल्य सदस्य रहे हैं, जबकि चेतेश्वर पुजारा टेस्ट क्रिकेट में भारत की रीढ़ रहे हैं.

6) विराट कोहली, रवींद्र जडेजा, सौरभ तिवारी, मनीष पांडे, सिद्दार्थ कौल और अभिनव मुकुंद- 2008

विराट कोहली ने 2008 विश्व कप में भारतीय अंडर-19 टीम की कप्तानी की और फाइनल में दक्षिण अफ्रीका पर जीत के साथ विश्व कप जीतने में उनकी मदद की.

रवींद्र जडेजा ने अपना दूसरा अंडर -19 विश्व कप खेला और इसे जीता जबकि अभिनव मुकुंद, सौरभ तिवारी, मनीष पांडे, और सिद्दार्थ कौल ने भी टीम में जगह बनाई.

7) केएल राहुल, मयंक अग्रवाल, हर्षल पटेल, जयदेव उनादकट, और संदीप शर्मा- 2010

2010 के U-19 विश्व कप में भारत ने भूलने वाला प्रदर्शन था क्योंकि वे सेमीफ़ाइनल में जगह नहीं बना सके थे. केएल राहुल और मयंक अग्रवाल ओस टीम से उभरने वाले सबसे बड़े नाम हैं.

हर्षल पटेल, जयदेव उनादकट और संदीप शर्मा नियमित रूप से आईपीएल का हिस्सा रहे हैं, लेकिन उन्होंने भारत के लिए ज्यादा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला है.

8) श्रेयस अय्यर, संजू सैमसन, कुलदीप यादव, सरफराज खान और दीपक हुड्डा- 2014

कुलदीप यादव और श्रेयस अय्यर ने 2014 विश्व कप में भारतीय अंडर-19 टीम के लिए खेला. संजू सैमसन भी उस टीम का अभिन्न हिस्सा थे.

ऑलराउंडर दीपक हुड्डा और विस्फोटक बल्लेबाज सरफराज खान भी आईपीएल में मुख्य भूमिका निभा रहे हैं और कुछ अच्छे प्रदर्शन से उन्हें सीनियर टीम में जगह बनाने में मदद मिल सकती है.

9) ऋषभ पंत, इशान किशन, सरफराज खान और वाशिंगटन सुंदर- 2016

2016 बैच ने ऋषभ पंत और इशान किशन जैसे कुछ युवा बल्लेबाजों का उत्पादन किया. पंत को भारतीय क्रिकेट का भविष्य माना जा रहा था.

किशन को अपना डेब्यू करना बाकी है, जबकि खान ने देश के लिए अपना दूसरा अंडर-19 विश्व कप खेला. वाशिंगटन सुंदर ने भी अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में शुरुआत की है.

No comments