Breaking News

कोरोना वायरस से बचाव के लिए खाएं ये 5 चीजें, भारत में आसानी से है उपलब्ध

दुनिया भर में कहर ढ़ाह रहे कोरोना वायरस (Coronavirus) ने अब तक 4,967 लोगों की जान ले ली है वहीं इससे संक्रमित लोगों की संख्या 134,113 हो गई है और ये आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। भारत में भी इस वायरस से पहली मृत्यू हो गई और कोरोना के मरीजों की संख्या 75 तक पहुंच गई है। इसमें सबसे दूखद है कि इस खतरनाक वायरस से बचाव के लिए अभी कोई वैक्सिन या मेडिसिन नहीं है। ऐसे में लोगों को अपने इम्यून सिस्टम (Immune system) को और मजबूत बनाने की जरूरत है, जिससे की शरीर को बिमारी से लड़ने या बचने की शक्ति मिल सके।


इसके लिए घरेलु खाने की चीजो का इस्तेमाल कर सकते हैं।

स्वच्छता का ध्यान रखने के साथ-साथ आवश्यकता है कि ऐसे खाने का सेवन करें जो हमें ताकत दे। जिन्हें आपको अपने इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देने और संक्रामक रोग के खिलाफ अपने शरीर की रक्षा करने के लिए अपने खाने में शामिल करना चाहिए।

लहसुन
घर में आसानी से उपलब्ध लहसुन को नियमित आधार पर सेवन करने से शरीर को संक्रमण से दूर रखने की क्षमता मिलती है। इसमें एलिसिन पाया जाता है जो वायरस से लड़ने और प्रतिरक्षा को बढ़ाने के काम में आता है। यह तब बनता है जब लहसुन की एक लौंग को कुचल कर चबाया जाता है काटा जाता है।

एलिसिन वही यौगिक है जो लहसुन को अपना विशिष्ट गंध देता है। आप लहसुन की दो लौंग ले सकते हैं और हर दिन गर्म पानी के साथ उसका सेवन कर सकते हैं या इसे अपने रोज के खाने का हिस्सा बना सकते हैं।

प्रोबायोटिक दही (योगर्ट)
योगर्ट इन्फ्लूएंजा वायरस के कारण श्वसन संक्रमण के प्रभाव को कम किया जाता है। इसके अलावा, नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (NCBI) में प्रकाशित शोध के अनुसार, प्रोबायोटिक की खपत भी बच्चों में श्वसन पथ के संक्रमण की घटनाओं को कम करने के लिए महत्पूर्ण है। ये अलग-अलग फ्लेवर में मिलता है। सुबह इसे खाने का विकल्प चुना जा सकता है।

दालचीनी
खाना बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाला यह सुगंधित मसाला आपके पसंदीदा व्यंजनों में विदेशी स्वाद जोड़ने के अलावा बहुत कुछ कर सकता है। न्यूयॉर्क के टौरो कॉलेज द्वारा किए गए एक प्रारंभिक अध्ययन में पाया गया कि दालचीनी में एंटीवायरल गुण हो सकते हैं। अनुसंधान के इन निष्कर्षों के अनुसार, रक्तचाप को विनियमित करने की अपनी सिद्ध क्षमता के अलावा, दालचीनी भी वायरल संक्रमण से शरीर की रक्षा कर सकती है।

आप बस एक दालचीनी की छड़ी को रात भर पानी में भिगो सकते हैं और अगली सुबह इसे पी सकते हैं। इसके अलावा दालचीनी का एक चुटकी अपने सुबह के कप चाय या कॉफी में डाल कर पी सकते हैं जिससे स्वाद और स्वास्थ्य लाभ दोनो मिलेगा।

मशरूम
शियाटेक मशरूम को बीटा-ग्लूकन के साथ पैक किया जाता है जिसे एंटीवायरल और जीवाणुरोधी यौगिक के रूप में जाना जाता है। वे न केवल आपकी इम्यून सिस्टम को बढ़ाने में मदद करते हैं बल्कि सूजन को कम करने के लिए भी काम आते हैं। आप मशरूम को पतला करके और नारियल के तेल में सॉस लगाकर हलका तल कर इसे खा सकते हैं।

मुलेठी
मुलेठी का इस्तेमाल पारंपरिक रूप से चीनी उपचार में उपयोग किया जाता है। इनफैक्ट, नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (NCBI) में प्रकाशित एक पेपर के अनुसार, मुलेठी की जड़ में पाए जाने वाले सक्रिय यौगिक, एंटीवायरल, रोगाणुरोधी, एंटीट्यूमोर और अन्य गतिविधियां जैसे कई औषधीय शामिल है।

मुलेठी का उपयोग इसके एंटीसिटिव और इसके गुणों के कारण इस्तेमाल किया जाता है। गले में खराश और खांसी के से राहत पाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। आप बस मुलेठी को पानी में उबाल सकते हैं या पानी में डुबा कर इसके पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आपको ठंड महसूस हो कहा है तो आप एक कप मुलेठी के पानी से बना चाय का उपयोग कर सकते हैं।

No comments