Breaking News

लौंग लगा हुआ नोट अगर इस दिन किया दान, तो बहुत जल्दी बन जाएंगे धनवान

हिंदू धर्म में बहुत सी मान्यताएं हैं। इन्हीं में से एक मान्यता यह भी है कि दान करने से मनुष्य को पुण्य की प्राप्ति होती है। कई शास्त्रों में तो यह कहा गया है कि दान करना एक बहुत बड़ा कर्म है। दान करने से हमारे जीवन में आई बहुत सी बाधाएं खत्म हो जाती हैं। दान के कारण ही हमारे जीवन में सुख संपत्ति आती है। आज हम आपको एक ऐसा कार्य बताने जा रहे हैं जिसे करने से आपके जीवन में सुख संपत्ति आएगी। आपने देखा होगा कि मंदिरों के बाहर ट्रैफिक सिग्नल रेलवे स्टेशन के किनारे बहुत से भिखारी बैठे होते हैं। कई लोग तो इन भिखारियों को इग्नोर करके आगे निकल जाते हैं और वही कई लोग ऐसे होते हैं जो इन भिखारियों को पैसे का दान दे देते हैं। भिखारियों को दान देने से आपकी परेशानियां काफी हद तक कम हो सकती हैं। हमारे शास्त्रों में बताया गया है कि अगर हम भिखारियों को एक खास तरह की चीज दान करेंगे तो हमारे जीवन से सारे कष्ट दूर हो जाएंगे लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना है कि यह दान आप भूरे भिखारियों को ही करें। यह उपाय आप केवल अमावस्या की रात या दिन को ही कर सकते हैं। पीतल की वस्तु जब कभी अमावस्या के दिन आए तो उस दिन आप पहले बाजार में जाएं और वहां से कोई भी पीतल की वस्तु लें।


पीतल की वस्तु बरतन आदि हो सकती है। इस वस्तु को पहले घर पर लेकर आए। उसके बाद इसकी हल्दी और कुमकुम से पूजा करें। उसके बाद इस वस्तु को किसी बूढ़े भिखारी को दान में दे दे।

ऐसा कहा जाता है कि इस काम को करने से घर में कभी भी धन संपत्ति की कमी नहीं होती है। लौंग लगा नोट अमावस्या के दिन आप पूजा घर में एक तेल का दीपक रखें। अब इस दीपक में एक लौंग डालकर उसे जला दें। जब लॉन्ग पूरी तरह से जल जाए तो उस लोंग को ₹10 के या इससे बड़े नोट के साथ गाड़ दें और लौंग लगा यह नोट बाहर जाकर किसी बूढ़े भिखारी को दे दें।

कहते हैं ऐसा करने से आप का रुका हुआ काम बन जाता है। चांदी का सिक्का सुनने में अजीब लग रहा है कि चांदी का सिक्का दान में दे शायद ही कोई एसा साधारण व्यक्ति होगा जो दान में चांदी के सिक्के देता हो। लेकिन ऐसा कहा जाता है कि यदि आप अमावस्या के दिन किसी बूढ़े भिखारी को चांदी का सिक्का दान में दे दें तो आपकी बहुत सी समस्याओं का अंत हो जाता है। इसके साथ साथ आपका जीवन भी खुशहाल होता है।

No comments