Breaking News

मौत का सीना चीर कैसे बची जिंदगी..बिजली के खंभे से मिला जीवनदान


पानी का तेज बहाव..लहरों के बीच फंसी जिंदगी और फिर जिंदगी की जीत..जी हां ये सब सुनने में भले ही किसी फिल्म की स्टोरी लग रही हो लेकिन ये हकीकत है और ऐसा हुआ है होशंगाबाद में। जहां पानी के तेज बहाव में बचे एक युवक की जिंदगी को कुछ युवा मौत के मुंह से वापस खींच लाए। मामला शुक्रवार शाम का है जब नाला पार करते वक्त बाइक सवार तीन युवक नाले में बह गए। जिनमें से एक युवक के लिए बिजली का खंभा जीवनदान देने वाला साबित हुआ। जिंदगी और मौत के संघर्ष की तस्वीरें मौके पर मौजूद एक शख्स ने अपने मोबाइल में कैद की हैं ।

गाड़ी समेत बहे तीन युवक, एक अब भी लापता

शुक्रवार की शाम होशंगाबाद के मांगरोल के रहने वाले आठ युवक बाइकों से तवा डैम देखने के लिए गए थे। अलग अलग बाइकों पर सवार होकर लौट रहे है युवकों में शरद,कैलाश और एक अन्य युवक आरी गांव के पास ओवरफ्लो बह रहे नाले में बाइक सहित बह गए। बाइक चला रहे शरद यादव ने पुल पर पानी होने के बावजूद पुल से बाइक निकालने की कोशिश की और बाइक अनबेलेंस होकर पानी की तेज धार में बह गई। तेज धार में बह रहे तीनों युवकों में से एक कैलाश ने बहते हुए खेत में लगे बिजली के खंभे को पकड़ लिया। वो मदद के चीखा तो पास ही एक मंदिर में बैठे लोगों ने उसकी आवाज सुनी। लोग दौड़ते हुए युवक की मदद के लिए पहुंचे और फिर काफी मशक्कत के बाद रस्से के सहारे युवक को तेज बहाव नाले के बीच से सुरक्षित निकाला। इसी दौरान मौके पर मौजूद किसी शख्स ने पूरी घटना अपने मोबाइल में कैद की है और अब ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

बाइक चला रहे युवक का नहीं लगा सुराग

कैलाश की जान ग्रामीणों ने संघर्ष कर बचा ली वहीं एक अन्य युवक नाले के बहाव में किसी तरह किनारे लग गया जिससे उसकी जान बच गई लेकिन बाइक चला रहे शरद यादव का अभी तक पता नहीं चला है। जिला प्रशासन की टीम शरद की तलाश कर रही है।

No comments