Breaking News

लॉकडाउन में चमकी 38 साल के कुंवारे शख्स की किस्मत, बगल वाली बालकनी में पसंद आई लड़की


चीन के वुहान से शुरू हुआ कोरोना वायरस फरवरी तक दुनियाभर में फैल चुका था। जिसके बाद से सभी देशों ने धीरे-धीरे लॉकडाउन का ऐलान करना शुरू किया। इस वजह से करोड़ों लोगों की नौकरी चली गई, साथ ही सभी को अलग-अलग तरह की समस्याओं से जूझना पड़ा, लेकिन इटली के एक कुंवारे शख्स की किस्मत इस लॉकडाउन ने खोल दी।

बगल में रहने वाली लड़की से प्यार

दरअसल मार्च में इटली में लॉकडाउन लागू होने के बाद सभी लोग घरों में कैद हो गए। इस दौरान 38 साल के मिशेल डीऐपलॉस और 40 साल की पाओला अग्नेली भी घर पर रहने को मजबूर हो गईं। वो दोनों कभी-कभी अपनी बालकनी पर आते थे। इसी दौरान दोनों की नजरें मिली और प्यार हो गया। अब वो जल्द ही शादी करने वाले हैं।

म्यूजिक कॉन्सर्ट के जरिए मुलाकात

मिशेल डीऐपलॉस के मुताबिक वो और अग्नेली एक ही अपार्टमेंट में रहते थे। लॉकडाउन की वजह से उनका काम बंद हो गया और वो घर में रहने लगे। इसी दौरान उनकी कॉलोनी के लोगों ने एक म्यूजिक कॉन्सर्ट आयोजित किया। इस कॉन्सर्ट के लिए शर्त थी कि सभी अपने घरों की बालकनी से इसे देखकर एन्जॉय करेंगे। मिशेल के मुताबिक कॉन्सर्ट के दौरान उन्होंने पहली बार एक दूसरे को देखा था। फिर रोजाना बालकनी से शुरू हुआ प्यार मोहब्बत का सिलसिला अब शादी में बदलने जा रहा है।

इस नाम से इटली में हुए मशहूर

कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा था, जिस वजह से वो छह महीनों तक नहीं मिल पाए। मिशेल डीऐपलॉस के मुताबिक उन्होंने एक दूसरे को सबसे पहले इंस्टाग्राम पर रिक्वेस्ट भेजी, फिर वहीं से बातचीत का सिलसिला शुरू हो गया। धीरे-धीरे ये लव स्टोरी इटली में फैल गई और अब दोनों को मॉर्डन रोमियो और जूलियट के नाम से जाना जाने लगा। हालांकि शेक्सपियर की कहानी की तरह इन दोनों का दुखद अंत नहीं हुआ। लॉकडाउन में ढील के बाद दोनों मिले और अब शादी का प्लान बना रहे हैं। दोनों के मुताबिक असल मायने में वो सामाजिक थे ही नहीं, उन्हें पता ही नहीं था कि उनके आसपास कौन रहता है। अब लॉकडाउन में उनके कई दोस्त कॉलोनी में बन गए हैं।

No comments