Breaking News

जम्मू की टीचर ने प्लास्टिक बोतलों और कबाड़ से बना दिया ख़ूबसूरत गार्डन


पर्यावरण के लिए प्रदूषण उस ज़हर की तरह है, जो धीरे-धीरे उसे नुक्सान पहुंचाकर ख़त्म कर देगा. यही वजह है कि इस चुनौती से निपटने के लिए सारी दुनिया चिंतित है. किस प्रकार प्लास्टिक और वेस्ट मटेरियल के ज़रिये कुछ ऐसा किया जाए कि इस समस्या का इनोवेटिव हल मिल जाए.

इस कड़ी में, पर्यावरणविद Dr. Nazia Rasool Latifi ने जम्मू में प्लास्टिक की बोतलों से बाग़ बनाना शुरू किया. इन बाग़ से न सिर्फ प्लास्टिक प्रदूषण कम होगा बल्कि वर्टीकल गार्डन की वजह से पानी की भी बचत होगी. इससे शहर की सुंदरता भी बढ़ेगी.

ANI से बात करते हुए Latifi ने कहा, “मैंने एक सेमिनार में भाग लिया था जिसके बाद मुझे यह विचार आया. मुझे प्रकृति से प्यार है और मुझे कुछ करने का जुनून था इसलिए मैंने इसकी शुरुआत की. मैंने गांधी नगर में गवर्नमेंट कॉलेज फॉर वीमेन में वर्टिकल गार्डन बनाया था, जिसमें मैं पढ़ा रही थी. मैंने पुलिस पब्लिक स्कूल, जम्मू विश्वविद्यालय में एक वर्टिकल गार्डन बनाया है जिसके बाद कई संगठन मुझसे संपर्क कर रहे हैं.”

उन्होंने आगे कहा, “इस ड्रिप सिंचाई का उपयोग प्रक्रिया में किया जाता है ताकि पानी की कम मात्रा का उपयोग किया जाए. COVID-19 में जब एक स्वस्थ वातावरण की ज़रूरत है, तब यह एक अच्छी पहल है. मैं इसे स्टूडेंट्स को सिखाती हूं ताकि आगे वो इसके ज़रिये कमाई भी कर सकें.”

इस गार्डन को बनाने के लिए प्लास्टिक की बोतलों को कार्टून आदि से पेंट कर सजा दिया जाता है. जिससे यह और भी ज्यादा सुन्दर दिखाई देता है. इस गार्डन को न सिर्फ बाहर बल्कि घर के अन्दर भी लगाया जा सकता है.

No comments