Breaking News

टीमों को सता रहा है IPL रद्द होने का डर


यूएई में 19 सितंबर से शुरू हो रहे आईपीएल के 13वें सीजन (IPL 2020) से पहले बीसीसीआई बड़ी मुसीबत में घिरती दिख रही है. यूएई के सख्त कोरोना वायरस प्रोटोकॉल्स बीसीसीआई के लिए मुश्किल का सबब बन चुके हैं. आईपीएल मैचों का आयोजन यूएई के तीन शहरों दुबई, शारजाह और अबु धाबी में होना है. इन तीनों शहरों में से अबु धाबी के कोरोना वायरस के प्रोटोकॉल्स सबसे सख्त हैं और यही बीसीसीआई के गले की फांस बन चुके हैं. नौबत ये आ चुकी है कि दुनिया की सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड इस समय यूएई की सरकारों से कोविड-19 नियमों में नरमी बरतने की बात कर रहा है.

अबु धाबी के नियम बने बीसीसीआई के लिए मुसीबत: मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो आईपीएल गवर्निंग काउंसिल के अध्यक्ष बृजेश पटेल और सीईओ हेमंग अमीन इस वक्त यूएई में हैं और वो शारजाह, दुबई और अबुधाबी की तीनों सरकार से कोरोना वायरस नियमों में छूट की बात कर रहे हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक अगर कोई शख्स दुबई से अबु धाबी जाएगा तो सीमा पर उसे कोरोना टेस्ट कराना होगा, इसमें ढाई घंटे का समय लगेगा. 

इसके बाद अबु धाबी में 48 घंटे के अंदर उसे अपना कोरोना नेगेटिव सर्टिफिकेट दिखाना होगा. अब अगर आईपीएल खिलाड़ियों पर भी यही नियम लागू रहा तो ऐसे में जब विराट कोहली, धोनी की टीमें दुबई से अबु धाबी जाएंगी तो इन खिलाड़ियों को पहले शहर की सीमा पर लाइन लगानी पड़ेगी, ताकि उनका कोरोना टेस्ट किया जा सके. इसलिए आईपीएल और बीसीसीआई के अधिकारी यूएई की सरकारों से बातचीत कर आईपीएल टीमों के लिए होटल में टेस्ट कराने की मंजूरी को लेकर बातचीत कर रहे हैं.

अबतक जारी नहीं हुआ है आईपीएल कार्यक्रम: 
बता दें आईपीएल 2020 शुरू होने से पहले ही बीसीसीआई पूरी तरह से घिरी हुई है. हाल ही में चेन्नई सुपरकिंग्स के 13 खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और इसी वजह से अबतक आईपीएल कार्यक्रम का ऐलान भी नहीं हुआ है. बीसीसीआई ने किसी फ्रेंचाइजी को इस संबंध में कुछ नहीं बताया है. सवाल ये है कि अगर आईपीएल शुरू होने तक लगातार पॉजिटिव मामले सामने आए तो टूर्नामेंट का क्या होगा, ये कोई नहीं जानता.

No comments