Breaking News

Post Office की बंपर फायदे वाली स्कीम, 5 साल में मिलेंगे 14 लाख रुपए


पोस्ट ऑफिस कई तरह की खास स्कीम चलाता हैं. इसमें सभी आयु वर्ग के लोगों के लिए स्कीम हैं. अगर आप कोरोना संकट में पैसे लगाने का प्लान बना रहे हैं तो आप कुछ ही सालों में लखपति बन सकते हैं. पोस्ट ऑफिस की सीनियर सिटीजन्स सेविंग्स स्कीम में निवेशकों को 7.4 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है. आइए आपको बताते हैं कि आप कैसे सिर्फ 5 साल में 14 लाख रुपए बना सकते हैं-

कौन खुलवा सकता है खाता सीनियर सिटीज़न्स सेविंग्स स्कीम (Senior Citizens Savings Scheme - SCSS) में खाता खुलवाने के लिए आपकी आयु सीमा 60 साल होनी चाहिए. 60 साल या उससे ज्यादा आयु के लोग ही इस स्कीम में खाता खुलवा सकते हैं. इसके अलावा जिन लोगों ने VRS, यानी Voluntary Retirement Scheme ले रखी है वह लोग भी इस स्कीम में खाता खुलवा सकते हैं.

10 लाख निवेश करने पर मिलेंगे 14 लाख से ज्यादा अगर सीनियर सिटीजंस स्कीम में आप एक मुश्त 10 लाख रुपए का निवेश करते हैं तो सालाना 7.4 फीसदी (कंपाउंडिंग) की ब्याज दर के हिसाब से 5 साल बाद यानी मेच्योरिटी पर निवेशकों को कुल रकम 14,28,964 रुपए होगी यानी 14 लाख रुपए से ज्यादा. यहां आपको ब्याज के रूप में 4,28,964 रुपए का फायदा हो रहा है. 

कितने रुपए से खुलवा सकते हैं खाता इस स्कीम में खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम राशि 1000 रुपए है. इसके अलावा इस खात में आप अधिकतम 15 लाख रुपए से ज्यादा नहीं रख सकते हैं. इसके अलावा अगर आपकी खाता खुलवाने की रकम एक लाख रुपए से कम है तो आप नकद पैसे देकर भी खाता खुलवा सकते हैं. वहीं, एक लाख रुपए से ज्यादा पर खाता खुलवाने के लिए आपको चेक देना होगा. 

मैच्योरिटी पीरियड कितना है SCSS का मैच्योरिटी पीरियड 5 साल की है, लेकिन अगर निवेशक चाहें तो इस समय सीमा को बढ़ाया भी जा सकता है. इंडिया पोस्ट वेबसाइट के मुताबिक, आप मैच्योरिटी के बाद इस स्कीम को 3 साल के लिए बढ़ा सकते हैं. इसको बढ़ाने के लिए आपको पोस्ट ऑफिस में जाकर आवेदन करना होगा. 

टैक्स में मिलती है छूट टैक्स की बात करें तो अगर SCSS के तहत आपकी ब्‍याज राशि 10,000 रुपए सालाना से ज्‍यादा हो जाती है तो आपका TDS कटने लगता है. हालांकि इस स्कीम में इन्वेस्टमेंट पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत छूट है.

खुलवा सकते हैं ज्वाइंट अकाउंट SCSS के तहत डिपॉजिटर इंडीविजुअली या अपनी पत्नी/पति के साथ ज्वॉइंट में एक से ज्यादा अकाउंट भी रख सकता है. लेकिन सभी को मिलाकर मैक्सिमम इन्वेस्टमेंट लिमिट 15 लाख से ज्यादा नहीं हो सकती. खाता खोलने और बंद करवाने के समय नॉमिनेशन फैसिलिटी उपलब्ध है.


No comments