Breaking News

PUBG बैन होने से डिप्रेशन में था 21 वर्षीय ITI छात्र, फांसी लगा कर दे दी जान, मां ने मोदी सरकार को कोसा


ऑनलाइन गेम पबजी के बैन होने की वजह से एक आईटीआई छात्र डिप्रेशन में आ गया जिसके चलते उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। यह घटना पश्चिम बंगाल के नादिया जिले की है। जहां ऑनलाइन गेम पबजी के बैन होने के बाद वह गेम नहीं खेल पा रहा था जिस वजह से 21 वर्षीय आईटीआई छात्र ने सुसाइड कर लिया है। 
यह पूरा मामला चकदाह थाना-क्षेत्र के पुरबा लालपुर क्षेत्र का है। वहीं पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि आईटीआई छात्र प्रीतम हलदर ने रविवार की शाम को फांसी लगाकर आत्महत्या की है। वहीं युवक की मां का ने दावा किया है कि उनका बेटा PUBG बहुत खेला करता था तथा जबसे पबजी बैन हुआ है तब से वह गुमसुम रहने लगा था। वहीं पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। वहीं पुलिस अब घटना का मामला दर्ज करके जांच में जुटी है।

वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 21 वर्षीय छात्र की मां रत्ना ने बताया कि रविवार की सुबह वह नाश्ते करने के बाद अपने कमरे में चला गया था। जब मैं उसे दोपहर को खाने के लिए उसके कमरे में बुलाने गई, तब मैंने देखा कि उसका कमरा अंदर से बंद है। वहीं बार-बार दरवाजा खटखटाने के बाद जब बेटे ने दरवाजा नहीं खोला तो मैंने पड़ोसियों को बुलाया। पड़ोसी दरवाजा तोड़कर कमरे में अंदर तो उन्होंने देखा युवक पंखे से लटका हुआ है।

छात्र की मां रत्ना ने दावा किया है कि उनका बेटा ऑनलाइन गेम पबजी नहीं खेल पाने की वजह से मायूस रह रहा था। वहीं पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि युवक के परिवार से बात करने के बाद उन्हें यही लगता है कि प्रीतम ने मोबाइल गेम नहीं खेल पाने के कारण ही अपनी जान दी है। प्रीतम के पिता बिस्वजीत हलदर एक रिटायर्ड आर्मीमैन हैं। युवक की मां रत्ना हाउस वाइफ हैं। वहीं आपको बता दें कि प्रीतम की एक छोटी बहन भी है।

गौरतलब है कि भारत सरकार ने बुधवार को ऑनलाइन गेम पबजी समेत चीन की 118 ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था। खबर यह भी मिली है कि भारत की इस दूसरी डिजिटल स्ट्राइक के बाद से ही चीन पूरी तरह से बौखलाया हुआ है। इसी के चलाते चीन ने भारत सरकार से आग्रह भी किया है कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा के बहाने चीनी मोबाइल ऐप्स के अपने भेदभाव को दूर करे।

No comments