Breaking News

फैन्स नहीं जानते होंगे कि इन 5 प्लेयर्स को टीम में शामिल करना चाहती थी CSK


चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल इतिहास की सबसे कंसिस्टेंट टीमों में शामिल रही हैं. टीम ने अभी तक सभी सीजन के प्लेऑफ में जगह बनाई हैं. प्रत्येक खिलाड़ी एमएस धोनी की कप्तानी वाली सीएसके के लिए खेलना चाहता हैं लेकिन ऐसा संभव नहीं हैं.

आज इस लेख में हम 5 ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जानेगे, जिन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स साइन करना चाहती हैं लेकिन दूसरी टीम ने बाज़ी मार ली.

1) जैक्स कैलिस: दक्षिण अफ्रीकी ऑलराउंडर जैक्स कैलिस आईपीएल में दो टीमों के लिए खेले. उन्होंने अपने करियर की शुरुआत रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर से की और बाद में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेले.

बहुत कम प्रशंसकों को पता होगा कि चेन्नई ने कैलिस को आईपीएल 2014 नीलामी में साइन किया था. हालांकि, कोलकाता ने राइट टू मैच विकल्प का इस्तेमाल किया और चेन्नई से ऑलराउंडर को छीन लिया. कैलिस चेन्नई की टीम के लिए एक रोमांचक खिलाड़ी हो सकते थे क्योंकि वह टीम को बहुत अधिक संतुलन प्रदान कर सकते थे.

2) रोहित शर्मा: रहित शर्मा आईपीएल इतिहास के सबसे सफल कप्तान हैं। एमएस धोनी की टीम ने आईपीएल में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है. एक टीम में इन दो खिलाड़ियों की कल्पना करो.

चेन्नई सुपर किंग्स ने 2011 में रोहित शर्मा को साइन करना चाहा. उन्होंने नीलामी से पहले उन्हें अपनी इच्छा सूची में डाल दिया था. दुर्भाग्य से, मुंबई इंडियंस ने रोहित को साइन करने रेस जीती, जिसके बाद प्रशंसकों को आईपीएल की एक ही टीम में हिटमैन और थाला देखने को नहीं मिलेगा. साथ ही, दोनों बल्लेबाज आईपीएल में 200+ छक्के लगाने वाले दो भारतीय हैं. यह आँकड़ा इस बात पर प्रकाश डालता है कि अगर रोहित और धोनी आईपीएल खेलों में एक साथ बल्लेबाजी करते हैं तो गेंदबाजों का जीवन विनाशकारी साबित हो सकता था.

3) यूसुफ पठान: एक अन्य मैच विजेता जो आईपीएल नीलामी 2011 से पहले चेन्नई सुपर किंग्स की इच्छा सूची में मौजूद था, वह यूसुफ पठान था. बड़ौदा के इस खिलाड़ी ने राजस्थान रॉयल्स के लिए कई मैच जीते थे.

आश्चर्यजनक बात ये रही कि राजस्थान ने 2011 के सीज़न से पहले उन्हें रिटेन नहीं किया. पठान ने नीलामी में प्रवेश किया और कोलकाता नाइट राइडर्स से एक महंगा कॉन्ट्रैक्ट हासिल किया लेकिन सीएसके उनकी इच्छा को पूरा नहीं कर सका. यूसुफ और धोनी को फिनिशर के रूप में कल्पना करना किसी भी गेंदबाज का सबसे बुरा सपना होता. इसके अलावा, धोनी चेपॉक की विकेट पर पठान को स्पिन-गेंदबाजी विकल्प के रूप में इस्तेमाल कर सकते थे. अगले साल, CSK नीलामी में रवींद्र जडेजा को अपनी में चुना.

4) सौरभ तिवारी: सौरभ तिवारी वर्तमान में मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा हैं. 2010 के सीज़न में उनके कारनामों के बाद, चेन्नई सुपर किंग्स सहित हर टीम उनकी सेवाएं चाहती थी.

लेकिन रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने उन्हें नीलामी में साइन किया, लेकिन वह उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सके, तिवारी बाद में आईपीएल में राइजिंग पुणे सुपरजायंट के लिए खेले.

5) एंजेलो मैथ्यूज: पूर्व श्रीलंकाई कप्तान एंजेलो मैथ्यूज 2010 की शुरुआत में क्रिकेट की दुनिया के शीर्ष ऑलराउंडरों में से एक थे. उन्होंने आईपीएल 2011 की नीलामी में एंट्री की.

लीग की नई टीम पुणे वॉरियर्स इंडिया ने नीलामी में उन्हें हासिल किया. एमएस धोनी की टीम ने नीलामी से पहले उन्हें अपने ’विशलिस्ट’ खिलाड़ियों में से एक के रूप में सूचीबद्ध किया था.

No comments