Breaking News

पोस्ट ऑफिस में 5 साल की RD कराना बेहतर है या FD, यहां जानें पूरी डीटेल


पोस्ट ऑफिस में निवेश करने के कई ऑप्शन मिलते हैं. यहां आप फिक्स्ड डिपॉजिट यानी एफडी (FD) और रेकरिंग डिपॉजिट (Post office Recurring Deposit) में भी निवेश कर सकते हैं. अगर आप इन दोनों में से किसी में लंबे समय के लिए निवेश करने की सोच रहे हैं तो इससे आपको थोड़ा पहले होमवर्क कर लेना चाहिए. अगर पोस्ट ऑफिस में पांच साल के लिए एफडी (Post Office Fixed Deposit) कराते हैं या पांच साल के लिए रेकरिंग डिपॉजिट कराते हैं तो कौन ज्यादा फायदेमंद है, इसे हम यहां समझने की कोशिश करते हैं.

पोस्ट ऑफिस में 5 साल के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट
फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट को पोस्ट ऑफिस में नेशनल सेविंग टाइम डिपॉजिट अकाउंट कहते हैं. यहां आप कम से कम 1000 रुपये में एफडी अकाउंट खोल सकते हैं और 100 के मल्टीपल में जितनी मर्जी हो पैसे की एफडी करा सकते हैं. इसमें अमाउंट की कोई लिमिट नहीं है. इंडिया पोस्ट की वेबसाइट पर दी जानकारी के मुताबिक आप यहां 1 साल, 2 साल, 3 साल और 5 साल के लिए एफडी करा सकते हैं. एक से तीन साल तक के लिए 5.5 प्रतिशत सालाना ब्याज दर है. पांच साल की एफडी के लिए सालाना ब्याज दर फिलहाल 6.7 प्रतिशत है. यानी पांच साल के लिए आप एफडी कराते हैं तो आपको रिटर्न के तौर पर 6.7 प्रतिशत ब्याज के तौर पर अमाउंट मिलेगा.

पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट
पोस्ट ऑफिस में पांच साल के लिए रेकरिंग डिपॉजिट करा सकते हैं. इसमें कम से कम 100 रुपये देकर हर महीने जमा करना होता है. आप 10 रुपये के मल्टीपल में कोई भी अमाउंट निवेश कर सकते हैं. इसमें भी निवेश करने की कोई लिमिट नहीं है. फिलहाल पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट (5 साल) पर ब्याज दर 5.8 प्रतिशत सालाना है. ब्याज दर इसमें हर तिमाही कैलकुलेट किया जाता है. पांच साल बाद मेच्योर होने पर अकाउंट को आगे के लिए भी एक्सटेंड कराया जा सकता है.

5 साल के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट का कैलकुलेशन
अगर पोस्ट ऑफिस में 1 लाख रुपये की एफडी पांच साल के लिए कराई जाए और ब्याज दर 6.7 प्रतिशत हो तो इस आधार पर मेच्योरिटी के समय आपको 38,300 रुपये ब्याज के तौर पर रिटर्न मिलते हैं. यानी तब आपका कुल अमाउंट 1,38,300 रुपये हो जाएगा.

No comments