Breaking News

पिता मजदूर, मां सड़क पर दुकान चलाती, बेटे के पास खेलने को गेंद नहीं थी, IPL में बना यार्कर किंग


IPL 2020 में युवाओं ने अपनी प्रतिभा का जलवा दिखाया है. कई अभी भी दिखाने को बेताब हैं. फिर जब कोई शख्स गरीबी और बेबसी से निकलकर मेहनत और लगन से अपने सपनों को साकार करता है, तो उसका संघर्ष दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत होता है. थंगरासू नटराजन एक ऐसा ही नाम हैं. वो IPL में यार्कर किंग बनकर उभरे हैं.

नटराजन के बचपन से लेकर दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट लीग IPL तक के सफ़र पर नज़र डालें, तो उनका जीवन बेहद संघर्षपूर्ण रहा है. जिन्होंने न सिर्फ अपनी सफलता से परिवार की आर्थिक स्थिति को बेहतर किया. बल्कि डेथ ओवर स्पेशलिस्ट के तौर पर अपनी पहचान बनाई और दुनिया के सर्वश्रेष्ट बल्लेबाजों को आउट भी किया है.

थंगरासू नटराजन IPL 2020 में सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से खेल रहे हैं. उन्होंने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ हुए मुकाबले में डेथ ओवर में अपनी कई यार्कर गेंद से बल्लेबाजों को रन बनाने पर मजबूर कर दिया. उन्होंने अंतिम ओवरों में शानदार गेंदबाजी की थी और अपने सीमित 4 ओवर में 25 रन देकर एक विकेट चटकाया था.
गरीबी में गुजरा बचपन, खेलने के लिए बॉल तक नहीं थी

तमिलनाडु के एक बेहद गरीब परिवार में नटराजन का जन्म 27 मई 1991 में हुआ. टी नटराजन का बचपन गरीबी और अभाव में बीता. नटराजन तमिलनाडु के सलेम जिला के गांव चिन्नप्पमपट्टी से आते हैं. जहां से किसी के लिए जीवन में अपने सपनों को साकार करना बहुत ही मुश्किल था. बावजूद इसके नटराजन ने एक मुकाम हासिल किया.

No comments