Breaking News

Navratri : इन चीज़ों का दान करने से मिट जाएगी सिर से गरीबी की काली परछाई


नवरात्रों में देवी मां को प्रसन्न करने के लिए शास्त्रों में कई उपाय बताए गए हैं। जिनमें इनके मंत्र आदि से लेकर कई तरह के अन्य जानकारी दी गई है। कहा जाता है इन नौ दिनों में देवी दु्र्गा को प्रसन्न करने के लिए जो भी जातक प्रयास करता है उसे माता रानी कभी खाली हाथ अपने द्वार से नहीं भेजती।

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ नवरात्रों में देवी मां को प्रसन्न करने के लिए शास्त्रों में कई उपाय बताए गए हैं। जिनमें इनके मंत्र आदि से लेकर कई तरह के अन्य जानकारी दी गई है। कहा जाता है इन नौ दिनों में देवी दु्र्गा को प्रसन्न करने के लिए जो भी जातक प्रयास करता है उसे माता रानी कभी खाली हाथ अपने द्वार से नहीं भेजती। उसकी सब मनोकामनाएं पूरी करती हैं। तो ऐसे में हम आपकी देवी भगवती को प्रसन्न करने में आपकी मदद करने वाले हैं। जी हां, हम आपको बताने वाले हैं कि ज्योतिषी उपायों के अलावा अन्य ऐसे कौन से काम हैं जिन्हें करने से आप देवी भगवती की कृपा के पात्र बन अपने हर इच्छा पूरी कर सकते हैं। तो चलिए अधिक देर न करते हुए आपको बताते हैं वो खास जानकारी जिसे पढ़ने के बाद आप जान पाएंगे कि क्या है वो खास काम या उपाय-

दरअसल कहा जाता है शास्त्रों में देवी दुर्गा के नवरात्रों में इनकी पूजा आदि के अलावा प्रत्येक व्यक्ति को कुछ खास चीज़ों का दान करना चाहिए, इन चीज़ों का दान करने से व्यक्ति को अपने जीवन में अधिकतर धन लाभ होता है। अब वो चीज़ें क्या है आइए ये भी जान लेते हैं-

नवरात्रों में महिलाएं काफी सज संवर कर रहती हैं। हाथों में चूड़ियां पहनना तो इन्हें सबसे अधिक भाता है। परंतु क्या आप जानते हैं इस दौरान केवल लाल चूड़ियां पहननी ही नहीं, बल्कि दान भी करनी चाहिए। जी हां, कहा जाता है इस दौरान छोटी कन्याओं को अगर लाल-हरी चूड़ियां दान में दी जाएं तो घर में बरकत आती है।

जिस तरह देवी दुर्गा को श्रृंगार का सामान चढ़ाना शुभ होता है ठीक उसी तरह इस दौरान मगर सुहाग का सामान दान आदि किया जाए तो भी जातक लाभ प्राप्त होता है। धार्मिक मान्यता है कि नवरात्रों में किसी भी दिन 7 सुहागिनों महिलाओं को मेहंदी भेंट करें।

इस दौरान केले का भी दान करना चाहिए। मान्यता है इससे घर में शुभता आती है। साथ ही साथ यह भी माना जाता है कि इससे घर में धन-धान्य बनने के भी योग बनते हैं। तथा जो लोग दरिद्रता से निजात मिलती है।

कुछ धार्मिक मान्यताओं के अनुसार नवरात्रों में नौ दिनों के दौरान किताबों का दान करना चाहिए। संभव हो तो दुर्गा सप्तशती की किताबों का दान भी करना चाहिए। इससे देवी महालक्ष्मी की कृपा बरसती है। तथा घर-परिवार पर छाई गरीबी की काली परछाई हमेशा हमेशा के लिए मिट जाती है।

No comments