Breaking News

मिनी स्विट्जरलैंड के नाम से है मशहूर ये जगह, 12 महीने रहती है बर्फ


उत्तराखंड की खूबसूरत वादियों में बसा औली उत्तर भारत का मिनी स्विट्जरलैंड कहा जाता है। यहां की खूबसूरती को निहारते रहने का ही मन करता है.. सूरज की किरणें जब बर्फ से ढके पहाड़ पर पड़ती है तो मानों ऐसा लगता है कि सुबह पहाड़ सूरज की रोशनी में नहा कर आये हो। मीलों दूर तक पसरी सफेद बर्फ की चादर पर जीभर कर खेलने का आनंद और औली में ले सकते हैं। यहाँ पर देवदार के पेड़ काफी ज्यादा मात्रा में पाए जाते हैं। इनकी पेड़ों की महक यहाँ की ठंडी और ताजी हवाओं में महसूस की जा सकती है। औली में आप खूबसूरती के अलावा यहां की एडवेंचर एक्टिविटी का भी लुफ्त उठा सकते हैं।  

दुनियाभर में कई एक से बढ़कर एक स्थान मौजूद हैं जिनकी खूबसूरती देख स्वर्ग जैसा अनुभव होता है। वहीं, अगर बात करें भारत कि तो यहां एक ऐसी जगह है जहां विश्वभर से पर्यटक बर्फ पर स्कीइंग का आनंद लेने के लिए खिंचे चले आते हैं। इस जगह की खासियत ये है कि यहां सिर्फ सर्दी के मौसम में ही नहीं बल्कि हर मौसम में बर्फ देखने को मिलती है। ये जानने के बाद आप सोच रहे होंगे कि भारत में भला ऐसी कौन सी जगह आ गई जहां 12 महीने बर्फबारी देखने को मिलती है?

दरअसल, ये खूबसूरत जगह उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित औली है। इसे देखकर स्विट्जरलैंड जैसा अनुभव होता है, इसलिए ये जगह मिनी स्विट्जरलैंड के नाम से भी जानी जाती है। ये जगह विषम परिस्थितियों वाला पर्यटक स्थल है। बर्फ की सफेद चादर ओढ़े पहाड़ों वाली ये जगह अपनी अलग ही खूबसूरती बिखरती है, चाहे सूर्योदय हो या सूर्यास्त हो या फिर रात की चांदी हो। इस सौंदर्य का हर रंग काफी खूबसूरत है।

यह रोपवे है खास: एशिया के सबसे लंबे गुलमर्ग रोपवे के बाद औली-जोशीमठ रोपवे को माना जाता है। साल 1982 में तत्तकालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने इस रोपवे की आधारशिला रखी थी, जबकि ये 1994 में तैयार हुआ था। लगभग 4.15 किलोमिटर लंबा ये रोपवे जिग-जैक पद्धति पर बना हुआ है। ये रोपवे देवदार के जंगलों के बीच से दस टॉवरों से गुजरता है, इसके आठवें टॉवर से रोपवे से उतरने-चढ़ने की व्यवस्था है।

स्कीइंग रेस: एफआइएस ने औली को स्कीइंग रेस के लिए अधिकृत किया है। स्कीइंग के लिए यहां पर 1300 मीटर लंबा स्की ट्रैक बना हुआ है। ये एक ऐसी जगह है जिसे एफआइएस द्वारा स्कीइंग रेस को लेकर अधिकृत किया हुआ है।

कैमरे में उतार लें स्लीपिंग ब्यूटी: औली अपने कई खूबसूरत नजारों के लिए प्रसिद्ध है। इसके ठीक सामने एक ऐसा पहाड़ नजर आता है जो बर्फ से ढकने के बाद एक लेटी हुई महिला का आकार ले लेता है। ये सुंदर दृश्य स्लीपिंग ब्यूटी के नाम से चर्चित है और इसका आकर्षण हर किसी को खींचता है। इस नजारे को कैमरे में कैद करने से कोई खुद को रोक नहीं पाता है।

बर्फबारी न होने पर बनाई जाती है बर्फदुनिका के सबसे ज्यादा ऊंचाई पर स्थित कृत्रिम झील औली में है। इस झील को साल 2010 में बनाया गया, जोकि 25,000 किलोलीटर की दूरी तक फैला हुआ है। जब बर्फबारी नहीं होती है तो इसी झील का पानी लेकर औली में कृत्रिम बर्फ बनाई जाती है। यहां फ्रांस में निर्मित मशीनें लगाई गई हैं, जिनकी मदद से बर्फ बनाई जाती हैं।

No comments