Breaking News

500 साल पुराना है ये जादुई उपाय, खत्म होगी नपुंसकता और वीर्य बढ़ जाएगा


भीगा चना हमारी सेहत के साथ साथ सुन्दरता के लिए भी कारगर है। आयुर्वेद में इससे मर्दानगी बढ़ाने की औषधि माना गया है। आइये जानते है ऐसा क्यों?

नपुंसकता को समाप्त आयुर्वेद के अनुसार रात भर भीगे चनो का पानी पीने से हमारे शरीर में जो वीर्य की कमी हुई है वो पूरी हो जाती है। और शरीर पुष्ठ होता है। भीगे चनो के पानी को शहद के साथ लिया जाये तो सालों पुरानी नपुंसकता दूर हो जाती है।

वीर्यवर्धक उपाय कमजोर शरीर के साथ साथ वीर्य में भी कमी हो तो चनों को चीनी के बर्तन में रात भिगो दें फिर सुबह उठकर भीगे चनों को चबा चबा कर खायें। जिस पानी में चनो को भिगोया था वो पानी भी पी लें। दो सप्ताह तक ऐसा करने से वीर्य में बढ़ोतरी होगी और पौरुष से जुड़ी सभी समस्यों से आराम मिलेगा।

रात भर एक कटोरी भीगे हुए या सेंके हुए चने रोज सुबह सात बादाम के साथ चबा-चबा कर खाएं। इससे शरीर मजबूत होता है। और यौन शक्ति भी बढ़ती है। दूध के साथ भीगे चनों को खाने से मांसपेशियां और पुट्ठे मजबूत होते हैं।

पहले भीगे हुए चने सुबह-शाम चबाकर खा लें फिर गुनगुने दूध में शहद मिलाकर पी लें। तो मैथुन-शक्ति बढ़ती है, और नंपुसकता समाप्त होती है।

No comments