Breaking News

भारत के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम के सामने होंगे ये 5 सवाल


भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज की शुरुआत शुक्रवार 27 नवंबर से हो रही है। इस सीरीज के लिए मेहमान टीम भारत को प्लेइंग इलेवन चुनने में ज्यादा परेशानी नहीं होगी, लेकिन मेजबान ऑस्ट्रेलिया के सामने एक या दो नहीं, बल्कि 5 सवाल हैं, जिनके जवाब कंगारू टीम को इस सीरीज में देने होंगे। खासकर प्लेइंग इलेवन के चुनाव में ऑस्ट्रेलियाई टीम को परेशानी होगी।

टॉप ऑर्डर ने बढ़ाई मुश्किल ऑस्ट्रेलिया के पास डेविड वार्नर और आरोन फिंच जैसे ओपनर हैं। इनके अलावा टॉप ऑर्डर में स्टीव स्मिथ और मार्नस लाबुशाने समेत कई और बल्लेबाज है, लेकिन कंगारू टीम को पिछले कुछ समय से अच्छी शुरुआत नहीं मिलती है। कभी वार्नर फेल हो जाते हैं तो कभी फिंच फ्लॉप रहते हैं। ऐसे में जिम्मेदारी स्टीव स्मिथ और नंबर चार के बल्लेबाज की रहती है, लेकिन ये भी फ्लॉप हो जाते हैं। यही कारण है कि एक सवाल कंगारू टीम के सामने ये भी है।

मैक्सवेल का प्रयोग ऑस्ट्रेलियाई टीम ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल का प्रयोग किस तरह से करेगी ये भी देखने वाली बात होगी। ग्लेन मैक्सवेल अपने आप में कंगारू टीम के लिए एक सवाल बने हुए हैं। ग्लेन मैक्सवेल को सबसे पहले दो 10 ओवर का कोटा पूरा करने की जिम्मेदारी निभानी होगी। दूसरी बात ये कि कंगारू टीम उनसे किस नंबर पर बल्लेबाजी कर उनका अच्छा प्रयोग करेगी। ये भी एक सवाल होगा।

लाबुशाने करेंगे गेंदबाजी? ऑस्ट्रेलियाई टीम अगर नंबर चार पर मार्नस लाबुशाने को प्लेइंग इलेवन में चुनती है तो फिर उनको कम से कम छठे गेंदबाज की भूमिका निभानी होगी। लाबुशाने एक या दो ओवर निकालते हैं, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम के नजरिए से उनको कम से कम 5 ओवर गेंदबाजी करने होगी और रन रोकने के साथ-साथ विकेट भी निकालने होंगे।

मुख्य गेंदबाजों का जाल कंगारू टीम के पास मौजूदा समय में तीन मुख्य गेंदबाज हैं। इनमें पैट कमिंस, मिचेल स्टार्क और जोश हेजलवुड हैं। अगर इनसे इतर देखा जाए तो कंगारू टीम के पास कोई गेंदबाज ऐसा नहीं दिखता, जो मैच विनर हो और न ही टीम उनकी ओर देखती है। ऐसे में सवाल ये भी क्या यही तीन गेंदबाज तीनों फॉर्मेट में बने रहेंगे या फिर किसी अन्य गेंदबाज की ओर कंगारू टीम मैनेजमेंट रुख करेगा।

कैमरन ग्रीन का डेब्यू ऑस्ट्रेलिया की टीम में कैमरन ग्रीन को लेकर काफी चर्चा है। ग्रीन हैं तो बॉलिंग ऑलराउंडर, लेकिन वे गेंदबाजी में उतने सफल नजर नहीं आते। ऐसे में अगर कैमरन ग्रीन ऑस्ट्रेलिया की वनडे टीम में डेब्यू करते हैं तो फिर देखने वाली बात ये होगी कि मार्कस स्टोइनिस और ग्लेन मैक्सवेल में से किसे मौका दिया जाता है, क्योंकि ग्रीन के डेब्यू की चर्चा जोरों पर है।

No comments