Breaking News

हिमाचल: घोर कलयुग बेटे ने पीट-पीटकर अपने पिता उतारा मौत के घाट

बिलासपुर एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां जिले के नई सारली इलाके में बेटे राजकुमार ने पिता सुखराम को पीट-पीटकर हत्या कर दी। अपने पिता को मारने के बाद बेटे ने शव को घर के एक कमरे में पलंग पर रख दिया और खुद सो गया। झगड़े का पता चलने के बाद भी परिवार के बाकी लोग आरोपित की दहशत के कारण ऊपर की मंजिल पर नहीं जा पाए। सुबह होते ही आरोपित बेटा घर में बिना बताए चुपचाप नौ दो ग्यारह हो गया। परिवार के लोगों ने जब उसके पिता को बिस्तर पर लहूलुहान देखा तो उसे जिंदा समझकर जिला अस्पताल में ले गए। वहां मौजूद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

जानकारी के अनुसार नई सारली गांव के रहने वाला राजकुमार पहले ठेकेदारी करता था। लेकिन शराब का आदी होने की वजह से और लोगों के साथ आए दिन होने वाले झगड़ों के कारण उसकी स्थिति ऐसी आ गई थी कि अब वह पिछले कुछ समय से दिहाड़ी- मजदूरी का काम करने लगा था। पिछले कुछ समय से राजकुमार के खिलाफ पुलिस को शिकायतें मिल रही थी कि वह परिवार में भी पिता के साथ झगड़ा करता है और परिवार के बाकी लोगों के साथ भी बुरा व्यवहार करता है। इसी के मध्यनज़र पिछले दिनों पुलिस ने उसे हिरासत में भी लिया था। गांव में भी उसके कई लोगों के साथ विवाद चल रहे थे। शुक्रवार की रात को बेटा राजकुमार गुस्से से आग बबूला हो गया और घर की दूसरी मंजिल पर अपने पिता के साथ बहस बाजी करने लगा। तैश में आकर उसने पहले काफी देर तक अपने पिता की जमकर पिटाई। इसके बाद राजकुमार ने अपने पिता को जोर से कमरे के फर्श पर पटक दिया। इस कारण उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

मामला मौत से जुड़ा होने के कारण पुलिस तक पहुंचा। पुलिस ने जब इस संबंध में जांच पड़ताल की तो परिवार के लोगों ने कहा कि मौके पर फर्श पर काफी खून पड़ा हुआ है और छीना झपटी भी हुई है। परिवार के लोगों ने ही पुलिस को बताया कि राजकुमार ने अपने पिता की हत्या करके शव को पलंग पर रख दिया था और खुद मौके से फरार हो गया था। बिलासपुर एसपी दिवाकर शर्मा मामले की गंभीरता को देखते हुए खुद पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और कातिल बेटे की मोबाइल लोकेशन ट्रेस कर उसे धर दबोचा। उन्होंने बताया कि पुलिस ने इस संबंध में हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। फॉरेंसिक टीम को मौके पर मौजूद है। बता दें कि आरोपी बेटे को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

No comments