Breaking News

जानें कब है दिवाली, इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा, मां लक्ष्मी होंगी खुश


दिवाली इस बार 14 नवंबर को पड़ रही है. इस दिन लोग मां लक्ष्मी और गणेश भगवान की विधि विधान से पूजा अर्चना करते हैं. हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार, मां लक्ष्मी दिवाली के दिन पृथ्वी पर भ्रमण करने आती हैं और इसी समय वो लोगों के घरों में भी जाती हैं. यही वजह है कि लोग दिवाली से पहले घर की साफ सफाई करते हैं, रंग रोगन करवाते हैं और घर की सजावट करते हैं. मान्यता है कि जिस जातक का घर साफ सुथरा होता है मां लक्ष्मी उसी के घर आती हैं और उसी व्यक्ति पर कृपा करती हैं. लेकिन जिसका घर साफ सुथरा नहीं होता है मां लक्ष्मी दरवाजे के बाहर से ही लौट जाती हैं.

दिवाली का शुभ मुहूर्त: दिवाली में लक्ष्मी पूजा का विशेष महत्व है. इस बार दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजा मुहूर्त शाम के वक्त है. लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त  इस बार मां लक्ष्मी और गणेश की पूजा 14 नवंबर (शनिवार को होगी). पूजा का शुभ मुहूर्त 17:28 से 19:24 तक रहेगा. पूजा करने की शुभ समय अवधि 1 घण्टा 56 मिनट की होगी. प्रदोष काल 17:28 से 20:07 तक रहेगा.

मां लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए पढ़ें ये मंत्र: दिवाली मां लक्ष्मी की कृपा पानी के लिए विशेष दिन है. इस दिन मां लक्ष्मी के मंत्र 'ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद् श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मयै नम:' का 108 बार जाप करना चाहिए.

मां लक्ष्मी का जन्म दिवस होता है धार्मिक कथाओं के अनुसार कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या को ही समुद्र मंथन से मां लक्ष्मी का आगमन हुआ था. एक अन्य मान्यता के अनुसार इस दिन मां लक्ष्मी का जन्म दिवस होता है. कुछ स्थानों पर इस दिन को देवी लक्ष्मी के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है.

पौराणिक कथाओं के अनुसार, भगवान राम इसी दिन लंका पर विजय प्राप्त कर और अपने 14 वर्ष का वनवास पूरा करके वापस अयोध्या लौटे थे. उनके आने की खुशी में पूरे राज्य को दीपों से सजाया गया था. तभी से यह त्योहार मनाया जाता है. लोग इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा भी करते हैं. कहा जाता है कि धन की देवी मां लक्ष्मी इस दिन घर में प्रवेश करती हैं. इस दिन धन-संपदा और शांति के लिए लक्ष्मी और गणेश भगवान की विशेष पूजा-अर्चना का आयोजन होता है. दिवाली में हर कोई अपने घर की सफाई कर उसे सुंदर देखना चाहता है.

No comments