Breaking News

करवा चौथ व्रत : गलती से टूट जाए व्रत को करें ये उपाय


करवा चौथ 2020 नियम: करवा चौथ के दिन सुहागिन महिलाएं भी ना करे ये गलतियां:इस बार भारत में करवा चौथ को मनाया जाएगा से सभी भारतीय महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखेंगी।

सुहागन महिलाओं के अलावा कुंवारी कन्याएं भी करवा चौथ का व्रत रखती है लेकिन कई बार महिलाएं कुछ ऐसी गलती कर जाती है जिनके कारण उसे व्रत का पूरा फल नहीं मिल पाता आज इस आर्टिकल में हम आपको यही बताने वाले हैं।

करवा चौथ का व्रत कर रही महिलाओं को कभी भी करवा चौथ के दिन काली और सफेद साड़ी नहीं पहनी चाहिए इससे उनके पति की उम्र पर प्रभाव पड़ता है और वैसे भी महिलाओं को काली साड़ी पहनना शुभ माना गया है।

इसके अलावा करवा चौथ वाले दिन महिलाएं दूध दही छाछ या कोई कपड़े किसी को भी दान में ना दें यह भी अशुभ माना गया है इससे आपको करवा चौथ के व्रत का पूरा फल नहीं मिल पाता।

अक्सर महिलाएं करवा चौथ के व्रत के दिन टाइम पास करने के लिए कुछ भी सिलने लग जाती है करवा चौथ वाले दिन सिलाई के लिए कैंची से कपड़े काटना ही सिलाई करना ऐसे कार्य बिल्कुल भी नहीं करें।

और यदि करवा चौथ वाले दिन आपसे कोई भी श्रंगार सामग्री टूट जाए तो उसे घर के बाहर ना फेंके उसे बहते हुए जल में डालें करवा चौथ वाली व्रत के दिन किसी की भी निंदा ना करें बड़ों का हमेशा आदर करें।

करवा चौथ वाले दिन पति से वाद विवाद ना करें पति से झगड़ा ना करें पति से केवल आप प्यार भरी बातें ही करें तभी आपको करवा चौथ के व्रत का पूरा फल मिल पाएगा

पूजा के दौरान अक्सर होने वाली गलतियाँ- अपने घर की सुख समृद्धि, और अच्छी कामना के लिए अक्सर लोग पूजा-पाठ करते है। अपनी मनोकामना पूर्ण करने के लिए लोग भगवान के किए कुछ-कुछ करने की बात कहते है और करने में नाकाम हो जाते है। इस स्थिति में भी कहा जाता है कि मनुष्य पाप का भोगी होता है।

व्रत भंग के दोष को दूर कैसे करें-

व्रत भंग होने पर जिस भगवानका व्रत रखा है उनकी उपासना करते हुए माफी मांगनी चाहिए।

व्रत दोष के लिए उस ही देवी और देवता की मूर्ति बना कर उसको सबसे पहले दूध, दही, शहद और शक्कर को मिलाकर पंचामृत से स्नान कराना चाहिए।

बनाई गई मूर्ति पर गंध, अक्षत, फूलों और सोलह तरह की पूजा सामग्रियों से पूजा करें।

व्रत टूट जाने के बाद किसी बड़े और ज्ञानी पंडित से पूछ कर दान पुण्य जरूर करें जिसकी मदद से भगवान को मानाने में मदद मिलेगी।

जिस भगवान का व्रत टूटता है, उन भगवान के विशेष मंत्र को पढ़ने के साथ उनकी पूजा करें।

उन देवता के नाम का घर में हवन जरूर करवाना चाहिए और व्रत भंग की क्षमा मांगनी चाहिए। हवन के बाद प्रार्थना करते वक्त कहें कि जो हमारे द्वारा व्रत भंग हुआ था उसका दोष दूर करें और व्रत पूर्ण करें।

No comments