Breaking News

कोरोना काल में है दिवाली, दोस्तों और रिश्तेदारों से मिलते समय बरतें ये सावधानियां


जहां तक भारत का संबंध है, यहां कोविड-19 महामारी लगभग नौ महीने से है. हम सदमे के प्रारंभिक दौर से गुजरे हैं. अब जबकि कई महीने बीत चुके हैं. फिर से स्थिति सामान्‍य होने की संभावना है. भारत में दिवाली एक बहुत बड़ा त्योहार है और हम में से बहुत से लोग साल के इस समय में कई गतिविधियों की योजना बनाते हैं. त्योहार के इस मौसम में कोविड-19 महामारी का प्रसार बढ़ सकता है. ऐसे में कुछ टिप्‍स अपना कर आप दिवाली पर खुद समेत परिवार आदि को सुरक्षित रख सकते हैं.

अपने दिन की योजना बनाएं
त्योहार के दौरान लोग बहुत कम या बिना किसी चेतावनी के यात्रा करते हैं और ऐसे में कोविड-19 की विशिष्ट सावधानियों का पालन नहीं हो पाता. इसलिए एक योजना बनाएं कि मेहमानों से कैसे मिलना है, उन्हें कहां बैठाना है, उनके साथ क्या साझा करना है आदि. जब आप उनसे मिलते हैं, तो आप स्वच्छता और शारीरिक दूरी बनाए रखें.

मास्क पहनें

सिर्फ इसलिए कि आप परिवार के सदस्यों से मिल रहे हैं, जो कुछ समय के लिए दूर थे, इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपनी सतर्कता को कम कर दें. किसी अन्य वातावरण से आने पर व्यक्ति आपको छू सकता है और अनजाने में कोविड-19 संक्रमण को दूसरों में स्थानांतरित कर सकता है. इसलिए दूसरों की सुरक्षा के लिए भी मास्क पहनें. अन्य सभी चरणों का पालन करें जैसे हाथ धोने के लिए साबुन और पानी का उपयोग करना आदि.

बड़े और हवादार स्थानों पर इकट्ठा होंं
यह सोचकर अच्छा हो लगता है कि आप अपने लंबे समय से खोए हुए दोस्त या रिश्तेदारों से मिलना चाहते हैं और कुछ अच्छा समय उनके साथ साझा करना चाहते हैं. लेकिन सुनिश्चित करें कि सभी बैठकें बड़े, हवादार स्थानों पर आयोजित की जाए. कोरोनो वायरस हवा में लटक जाता है जिसे हम अंततः सांस के माध्यम से अपने शरीर में ले लेते हैं और इससे हम बचना चाहेंगे.

बाहर खाने की योजना छोड़ें
बाहर खाना कभी भी अधिक असुरक्षित नहीं रहा. आप यह तर्क दे सकते हैं कि बहुत से लोग बाहर खाते हैं और उन्हें कुछ भी नहीं होता है. बाहर खाने में किसी अन्य व्यक्ति द्वारा की गई तैयारी शामिल है और आप यह सुनिश्चित नहीं कर सकते हैं कि आपकी सेवा करने वाला व्यक्ति गलती से उन सतहों को नहीं छू पाया है जिनमें कोविड-19 वायरस हैं. इसलिए कुछ हफ़्ते या महीनों तक प्रतीक्षा करें.

सावधानी के साथ नमस्ते करें, गले न लगाएं
त्योहारों के दौरान जब दोस्त मिलते हैं, तो कोई यह भूल सकता है कि डॉक्टरों ने एक दूसरे के बहुत करीब आने वाले लोगों के खिलाफ चेतावनी दी है. इसलिए हाथ जोड़कर नमस्कार करना ठीक होगा और आप बाद में गले मिल सकते हैं.

सैनिटाइजर आग के लिए खतरा
विशेष रूप से दीयों, मोमबत्तियों, पटाखों आदि से सैनिटाइजर को दूर रखें क्योंकि यह अल्कोहलीक पदार्थ है और जिस कारण इसमें गलती से आग लग सकती है. यह एक दुर्घटना का रूप ले सकता है. बहुत सी अन्य सावधानियां हैं, जिनका आप पालन कर सकते हैं, जैसे कि बुजुर्गों को अपने करीब नहीं आने दे, गर्भवती महिलाओं और बच्चों आदि के लिए पर्यावरण को सुरक्षित करें.

No comments