Breaking News

क्यों मिला आपको रिलेशनशिप में धोखा? वजह ढूंढ रहे हैं तो पढ़ें यह आर्टिकल


रिलेशनशिप में चीटिंग क्यों करते हैं लोग? रिलेशनशिप में धोखे की वजह से इंसान पूरी तरह से टूट जाता है। जिसका असर उसके दिलो दिमाग पर बुरी तरीके से पड़ता है। धोखा खाने वाले इंसान के मन में हर वक्त बस एक बात गूंजती है कि आखिर उसके साथ ही ऐसा क्यों हुआ? रिलेशनशिप में धोखा पाने के बाद आपकी फीलिंग्स हर्ट होती हैं। जिसकी वजह से आप क्रोधित, उदास या शारीरिक रूप से बीमार महसूस कर सकते हैं। लेकिन इन सबसे ज्यादा आपका ध्यान इस तरफ ही रहता है कि ऐसा आखिर क्यों? आपको इस सवाल का जवाब इस आर्टिकल में मिल सकता है।

रिलेशनशिप में चीटिंग : स्टडी के हिसाब से ये फैक्टर्स हो सकते हैं जिम्मेदार

द जर्नल ऑफ सेक्स रिसर्च में प्रकाशित 2017 के एक अध्ययन ने इस विषय का पता लगाया। स्टडी में 495 लोगों ने ऑनलाइन सर्वे का इस्तेमाल किया। प्रतिभागियों में 259 महिलाएं, 213 पुरुष और 23 लोगा ऐसे लोग शामिल थे, जिन्होंने अपना जेंडर नहीं बताया। इनमें ज्यादातर लोग हेट्रोसेक्शुअल (87.9 प्रतिशत) थे। इनकी औसत आयु 20 वर्ष की थी।

रिसर्च में ऐसे कुछ फैक्टर्स बताए गए जो रिलेशनशिप में चीटिंग का कारण बनते हैं। बेशक, ये फैक्टर्स हर किसी पर लागू नहीं होते हैं। लेकिन इससे यह बेहतर तरीके से समझा जा सकता है कि लोग इस वजह से भी धोखा दे सकते हैं।

क्रोध या बदला लेने की भावना

लोग कभी-कभी गुस्से में या बदला लेने की इच्छा से धोखा देते हैं या रिवेंज सेक्स में इन्वॉल्व होते हैं। हो सकता है कि आपको जब पता चले कि आपका पार्टनर आपको धोखा दे रहा है, आपका हर्ट होना लाजमी है। अब आपके मन में भी ऐसा ही करने का विचार आता है। ज्यादातर लोग रिलेशनशिप में ऐसा ही सोचने लगते हैं। वे चाहते हैं कि उसका पार्टनर भी उन्हीं भावनाओं से गुजरे ताकि वे उनके दर्द को समझ सकें। दूसरे शब्दों में कहा जाए तो “उन्होंने मुझे चोट पहुंचाई है, इसलिए अब मैं उन्हें चोट पहुचाऊंगा”, इस भावना को मन में बैठा लेते हैं।

क्रोध की वजह से रिलेशनशिप में धोखा देने के पीछे अन्य कारण भी हो सकते है। इसमें शामिल हैं –
जब पार्टनर आपकी जरूरतों को समझता नहीं है।
पार्टनर का शारीरिक या भावनात्मक रूप से सहयोग न देना।
आर्ग्यूमेंट के बाद गुस्सा या फ़्रस्ट्रेशन होना।

किसी और से प्यार में पड़ जाना

किसी के साथ प्यार में पड़ने की एक्ससाइटिंग फीलिंग आम तौर पर हमेशा के लिए नहीं रहती है। आपने महसूस किया होगा कि रिलेशनशिप के शुरूआती दौर में जो पैशन रहता है, वह बाद में कहीं गायब सा हो जाता है। निश्चित तौर पर कपल्स के बीच स्टेबल और लॉन्ग लास्टिंग प्यार मौजूद रहता है, लेकिन उनमें वह पहली-डेट जैसा एक्ससाइटमेंट हमेशा नहीं रहता है। जिसकी वजह से पार्टनर महसूस कर सकता है कि अब रिलेशनशिप में प्यार नहीं रहा। 77 प्रतिशत प्रतिभागियों ने रिपोर्ट किया कि उनके रिश्ते में प्यार की कमी, रिलेशनशिप में धोखा देने की मुख्य वजह थी।

रिलेशनशिप में चीटिंग : सिचुएशनल फैक्टर्स

रिलेशनशिप में धोखा देने के पीछे कुछ सिचुएशनल फैक्टर्स भी जिम्मेदार हो सकते हैं। जैसे-ऑफिस की एक सहकर्मी घर में पार्टी ऑर्गेनाइज करती है। रातभर पार्टी करने के बाद आप खुद को इस हालत में पाते हैं कि आप घर नहीं जा सकते हैं। मानिए आपकी को-वर्कर इस सिचुएशन में आपके साथ ज्यादा फ्रेंडली होती है। नतीजन, आप भी खुद पर काबू नहीं रख पाते हैं और न चाहते हुए भी उसके साथ इन्वॉल्व हो जाते हैं। ये सिचुएशनल फैक्टर्स ऐसे हैं जिनकी वजह से आपके रिश्ते में दूरी आने लगती है और जिसका रिजल्ट यह होता है कि आपक मौजूदा रिलेशनशिप बिगड़ने लगता है। रिसर्च के मुताबिक 70 प्रतिशत रिलेशनशिप में धोखा देने की एक वजह ये सिचुएशनल फैक्टर्स हैं।

कमिटमेंट की समस्या

आमतौर पर ऐसे मामले देखे जाते हैं जहां लोग रिश्ते को एक नाम देने के बाद ज्यादा सुरक्षित महसूस करते हैं, जैसे-सगाई के बाद या प्रेग्नेंसी के समय। ऐसा ज्यादातर महिलाओं के साथ होता है। लेकिन कुछ लोगों के लिए कमिटमेंट करना चिंता का विषय भी हो सकता है। कभी-कभी लोग जिम्मेदारी की भावनाओं को स्वीकार नहीं कर पाते हैं। एक रिश्ते में दो लोगों के लिए रिश्ते की स्थिति के बारे में बहुत अलग-अलग विचार हो सकते हैं। जिसकी वजह से रिलेशनशिप में धोखा होने की संभावना अधिक हो सकती है। 41 प्रतिशत लोग मानते हैं कि रिलेशनशिप में कमिटमेंट की कमी के चलते वे रिलेशनशिप में चीटिंग करने के लिए मजबूर हो जाते हैं। उन्हें जिसके साथ फुल कमिटमेंट मिलता है, उनके साथ रिश्ता निभाना ज्यादा उचित समझते हैं।

रिलेशनशिप में चीटिंग यौन इच्छा के कारण

कभी-कभी, इंटिमेसी के लिए एक या दोनों पार्टनर्स की नीड्स एक-दूसरे से मेल नहीं खाती हैं। फिर भी बहुत से लोग रिश्ते में रहना पसंद करते हैं वो भी इस उम्मीद के साथ कि समय के साथ चीजें बेहतर हो जाएंगी। लेकिन, जरूरतों का पूरा न होना पार्टनर्स में निराशा पैदा कर सकता है। जिसका असर रिलेशनशिप पर दिखने लगता है। इन जरूरतों को पूरा करने के लिए पार्टनर्स किसी और की तलाश करने लगते हैं। लगभग एक-तिहाई प्रतिभागियों (32 प्रतिशत) ने बताया कि उनकी सेक्शुअल डिजायर ने उन्हें रिलेशनशिप में धोखा देने के लिए प्रेरित किया। महिलाओं की तुलना में अधिक पुरुषों ने इस बात की रिपोर्ट की। यौन संबंधी आवश्यकताएं पूरी न होने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं –
पार्टनर्स की अलग-अलग सेक्स ड्राइव
पार्टनर का सेक्स में इंटरेस्ट न होना
एक या दोनों पार्टनर्स अक्सर घर से दूर समय बिताते हैं
इमोशनल नीड्स न पूरी होना आदि।

रिलेशनशिप में चीटिंग : सेल्फ-एस्टीम से जुड़े मुद्दे

व्यक्तिगत असुरक्षा की वजह से भी अफेयर्स शुरू हो सकते हैं। कम सेल्फ-एस्टीम के कारण लोग दूसरों की अटेंशन पर बहुत निर्भर हो सकते हैं। कुछ मामलों में यह भी देखा गया है कि केवल एक व्यक्ति का अटेंशन पर्याप्त नहीं होता है। यह किसी को अपने स्वयं के रिश्ते में असुरक्षित महसूस करने का कारण भी बन सकता है। बहुत से लोग सेल्फ-एस्टीम को बढ़ावा देने के लिए रिलेशनशिप में धोखा देने के लिए प्रेरित होते हैं। देखा गया है कि नए व्यक्ति के साथ सेक्स करने से सकारात्मक भावनाएं पैदा हो सकती हैं। इससे व्यक्ति आकर्षक, आत्मविश्वासी और सफल महसूस कर सकता है। ये भावनाएं सेल्फ-एस्टीम को बढ़ा सकती हैं। लगभग 57 प्रतिशत लोगों ने इस बात की रिपोर्ट की कि खुद के सेल्फ-एस्टीम को बढ़ाना ही धोखा देने का एक मकसद था।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें
मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...

सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

सेक्शुअली एडिक्टिव बिहेवियर

एक्सटर्नल अफेयर्स या रिलेशनशिप में धोखा देने की बात हो, दोनों को ही आमतौर पर सेक्शुअली एडिक्टिव बिहेवियर के साथ जोड़ा जा सकता है। जब कोई व्यक्ति डिजायर को संतुष्ट करने और नकारात्मक भावनाओं को दूर करने के लिए सेक्शुअल एक्टिविटी में लग जाता है, जिन्हें नियंत्रित करना मुश्किल होता है। यही सेक्शुअली एडिक्टिव बिहेवियर कहलाता है। ऐसे लोगों के लिए सेक्स, ड्रग्स या एल्कोहॉल की लत की तरह हो जाता है। इसकी वजह से रिलेशनशिप में धोखा देने पर वे मजबूर हो जाते हैं और एक ही समय में वे मल्टीपल रिलेशनशिप्स में रहते हैं।

रिलेशनशिप में विश्वासघात के फैक्टर्स मौजूदा रिश्ते के पहलुओं को कवर करते हैं। लोगों को धोखा देने के पीछे कारणों की एक लंबी लिस्ट है। निश्चित रूप से, रिश्तों में चीटिंग के पीछे एक या इससे अधिक भी कारण हो सकते हैं। बात कोई भी हो, रिलेशनशिप में धोखा पाने के बाद रुक जाना मुश्किल का कोई हल नहीं है। इसलिए, खुद को कमजोर न पड़ने दें और लाइफ में आगे बढ़ें।

No comments