Breaking News

कठिन व्रतों में से एक है करवा चौथ, इस दिन ऐसे रखें अपनी सेहत का ख्याल


करवा चौथ के त्योहार का इंतजार सुहागिन महिलाओं को बहुत पहले से रहता है। इसकी तैयारी वे काफी पहले से शुरू कर देती है। नए कपड़े, ज्वैलरी वे पहले ही खरीद लेती हैं और इस दिन बिलकुल नई दुल्हन की तरह तैयार होकर पूजा करने का सपना भी देखती है।

वहीं दूसरी ओर देखा जाए तो सुहागिन महिलाएं इस दिन निर्जला व्रत रखती हैं अपने पति की लंबी आयु की कामना करते हुए और रात में चांद देखने के बाद पति के हाथों पानी पीकर ही व्रत खोलती हैं तो अगर कहीं उनसे कोई चूक हो जाए तो सेहत खराब होने का डर रहता है और इससे वे इस त्योहार को ढंग से सेलिब्रेट भी नहीं कर पाती।

यह व्रत निर्जला रहा जाता है व्रत में पूरे दिन पानी ना पीने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है, जिसकी वजह से महिलाएं शाम के समय काफी कमजोरी भी महसूस करती हैं।

करवा चौथ के व्रत वाले दिन बार-बार प्यास लगती है। ऐसे में हम आपको यहां बता रहे हैं कि करवा चौथ वाले दिन आप क्या करें जिससे पूरे दिन आपको कमजोरी महसूस न हो और भूख भी कम लगे।

करवा चौथ के पहले दिन का डिनर हो खास

करवा चौथ के व्रत के पहले दिन खाने का खास ख्याल रखना जरूरी है। कई महिलाएं व्रत से एक दिन पहले काफी हेवी डिनर कर लेती हैं ताकि अगले दिन उन्हें जल्दी भूख न लगे।

लेकिन यह डिनर आसानी से नहीं पचता है जिसकी वजह से पेट की परेशानी होती है और हमें लगता है कि भूख लग रही है। इसके साथ ही सुबह कुछ ऐसा न खाएं जिससे आपको प्यास लगती हो, वरना व्रत शुरू होने के बाद प्यास आपको परेशान करेगी।

कोशिश करें कि व्रत शुरू करने से पहले कुछ मीठा न खाएं, मीठा आपकी प्यास को बढ़ाता है जिसकी वजह से तमाम समस्याएं पैदा होती हैं।

ऐसी होनी चाहिए आपकी सरगी .... - तला हुआ खाना खाने से पाचन क्रिया पर असर पड़ सकता है। आपको व्रत तोड़ने के बाद सलाद और स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक आहार खाना लेना चाहिए। व्रत तोड़ने के बाद सबसे पहले पानी पीना चाहिए।

- यह तो हम सभी जानते हैं कि करवा चौथ के दिन महिलाएं पूरा दिन निर्जल रहती हैं। ऐसे में शरीर में पानी की कमी हो सकती है। तो यह जरूरी हो जाता है कि आप सरगी में ही ऐसे फल लें जो पूरा दिन शरीर को हाइड्रेट रखें।

अगर आप इस दौरान कुछ ड्राई फ्रूट्स भी ले लेती हैं तो यह पूरा दिन आपकी मदद करेंगे। मुट्ठी भर ड्राईफ्रूट्स खाने से शरीर को भरपूर विटामिन और मिनरल्स मिलेंगे।

- सरगी का एक जरूरी हिस्सा है दूध और फेनिया। यह रीति-रिवाज के लिहाज से ही नहीं सेहत के लिहाज से भी बहुत अहम है। फेनिया गेहूं के आटे से तैयार होती है और इसे दूध में बनाया जाता है। यह प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का अच्छा मेल है। इसे खाने से आप दिन भर एनर्जी से भरपूर रह सकती हैं।

- फलों में काफी मात्रा में फाइबर और पानी होता है जो निर्जला व्रत के दौरान आपको हाइड्रेट रखने में मदद करता है। तो सरगी में फलों को खास जगह दें। ऐसे फल लें जो पचने में समय लगाएं और फाइबर से भरपूर हों।

- अगर आप ज्यादा तला-भुना, मीठा या बिना नमक का खाना ले रहे हैं तो यह आपको ब्लडप्रेशर से जुड़ी समस्या दे सकता है। ठीक इसके उलट अगर आप सिर्फ फ्रूट्स खाते हैं और पानी कम पीते हैं तो कब्ज या शारीरिक कमजोरी महसूस हो सकती है।

- आपको पूरे दिन बिना पानी के रहना है इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि आप सरगी के समय नारियल गिरी और नारियल पानी लें। यह तासीर में ठंड़ा होता है और शरीर को पूरा दिन हाइड्रेट रख सकता है।

- सरगी में केला, पपीता, अनार, बेरिज़, सेब जैसे फलों को जरूर शामिल करें। इसके साथ ही ड्राई फ्रूट्स भी खाएं, जिससे दिनभर आपको ताकत मिलेगी और भूख भी नहीं लगेगी। इसके अलावा एनर्जी के लिए आप हल्का गर्म दूध भी पी सकते हैं।

No comments