Breaking News

हिमाचल में कोरोना का टीके लगाने के लिए 3700 वर्कर्ज सिलेक्ट






हिमाचल में कोरोना वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को लगाई जाएगी। इसके बाद अन्य फ्रंट लाईन वर्कर्ज जैसे पुलिस बल, सफाई कर्मचारियों को उपलब्ध करवाई जाएगी। राज्य सरकार ने 80 हजार ऐसे कर्मचारियों की सूची तैयार कर ली है। स्वास्थ्य कर्मियों में सरकारी व गैर सरकारी स्वास्थ्य क्षेत्र में कार्यरत सभी स्वास्थ्य कर्मचारी शामिल हैं। इसके बाद राज्य में अन्य लोगों को यह वैक्सीन चरणबद्ध तरीके से उपलब्ध करवाई जाएगी।

बुधवार को कोरोना वैक्सीन उपलब्ध करवाने की तैयारियों को लेकर मुख्य सचिव अनिल खाची की अध्यक्षता में स्टेट स्टेयरिंग कमेटी की बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में कई महत्त्वपूर्ण निर्णय लिए गए। इस बारे में जानकारी देते हुए स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने बताया कि प्रदेश के लोगों को कोरोना वैक्सीन उपलब्ध करवाने की तैयारियां पूरी की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि यह वैक्सीन भारत सरकार के दिशा-निर्देशानुसार चरणबद्ध तरीके से राज्य में लोगों को उपलब्ध करवाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि वैक्सीन प्राप्त होने के बाद भारत सरकार के दिशा निर्देशानुसार राज्य में सबसे पहले यह वैक्सीन राज्य के 80 हजार स्वास्थ्य कर्मियों, हेल्थ केयर वर्कर्ज के अलावा अन्य फ्रंट लाइन वर्कर्ज जैसे पुलिस बल, सफाई कर्मचारियों आदि को उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों में सरकारी व गैर सरकारी स्वास्थ्य क्षेत्र में कार्यरत सभी स्वास्थ्य कर्मचारी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों के बाद राज्य में अन्य लोगों को यह वैक्सीन चरणबद्ध तरीके से उपलब्ध करवाई जाएगी। सचिव ने कहा कि राज्य में कोरोना वैक्सीन के भंडारण की भी पूरी व्यवस्था की गई है। वैक्सीन के भंडारण के लिए प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर 386 स्थल चिन्हित किए गए हैं, जहां पर इस वैक्सीन को राज्य में पहुंचने के बाद रखा जाएगा ।

उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन लोगों तक पहुंचाने के लिए वैक्सीन आने के बाद प्रदेश भर में व्यापक स्तर पर अभियान चलाया जाएगा, जिसके लिए प्रदेश भर में 3700 वैक्सीन लगाने वाले कर्मचारी (वैक्सीनेटर्ज) चिहिन्त किए गए हैं, जो टीकाकरण में अपनी सेवाएं देंगे। उन्होंने कहा कि इन कर्मचारियों को इस संबंध में आवश्यक प्रशिक्षण, उपकरण, बायोमेडिकल वेस्ट का सही निपटान करने की भी तैयारियां की जा रही हैं। मिशन निदेशक एनएचएम डा. निपुण जिंदल ने बैठक में तैयारियों के संबंध में विस्तृत प्रस्तुति दी, जिसके उपरांत मुख्य सचिव ने इस संबंध में अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय गुप्ता, प्रधान सचिव केके पंत, सचिव शहरी विकास रजनीश, सचिव आयुर्वेद डा. अजय कुमार, स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी, मिशन निदेशक एनएचएम डा. निपुण जिंदल भी उपस्थित रहे।

No comments