Breaking News

मंडी: एक दिन में बुझ गए परिवार के 2 चिराग, बडे भाई की मौत के सदमे से छोटे ने त्यागे प्राण


सुंदरनगर में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिस सुनकर हर कोई हैरान हो रहा है। जी, हांय यहां बड़ो भाई के मौत के गम में छोटे श्राई ने अपने प्राण त्याग दिए। सुंदरनगर में बडे़ भाई की मौत का सदमा नहीं झेल पाया और छोटे भाई ने भी प्राण त्याग दिए है। घटना का पता चलने से धनोटू में शोक की लहर दौड़ गई है। घटना उपमंडल के अप्पर बैहली पंचायत के नीचली बैहली गांव की है। सोमवार को सुबह धनोटू में गणपति कमेटी के प्रधान भुपेंद्र सिंह कौशल के बडे भाई निजी स्कूल के संचालक 47 वर्षीय करण सिंह कौशल को दिल का दौरा पडा और कुछ ही देरी में उनकी मौत हो गई।

परिजनों ने उनका संस्कार किया ही था कि तीन भाईयों में इनके छोटे भाई 40 वर्षीय संदीप सिंह मौत के मंजर का सदमा सहन नहीं कर पाने से अचेत हो गया। स्थानीय वासी ब्रहमदास चौहान ने कहा कि दिल का दौरा पडने से संदीप को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया गया और जहां से गंभीर हालत के चलते उसे पीजीआई इलाज के लिए रेफर किया गया, लेकिन चंडीगढ जाते हुए सवारघाट के निकट संदीप ने रास्ते में ही प्राण त्याग दिए। बडे भाई करण अपने पीछे पत्नी बेटे को छोड गए हैं, जबकि छोटे भाई संदीप की पत्नी बच्चों के साथ महादेव में रहती है।

No comments