Breaking News

बैठक में कृषि मंत्री के ऑफर पर बोले किसान- ये कमेटी का समय नहीं, आप हमारा भला मत कीजिए


लंबे घमासान के बाद आज किसान और सरकार बातचीत की टेबल पर हैं. दिल्ली के विज्ञान भवन में किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच दोपहर तीन बजे से बैठक चल रही है. इस बैठक में कृषि नरेंद्र सिंह तोमर के अलावा केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल भी हैं. साथ ही अलग-अलग किसान संगठनों के नेता भी हैं. मीटिंग से जुड़े तमाम अपडेट्स जानने के लिए पेज रिफ्रेश करते रहें...

सरकार से बोले किसान- आप हमारा भला मत कीजिए


सुत्रों के मुताबिक, किसान संगठन के प्रतिनिधि ने कहा कि आप लोग ऐसा कानून लाए हैं जिससे हमारी जमीने बड़े कॉरपोरेट ले लेंगे, आप कॉरपोरेट को इसमे मत लीजिए. अब समिति बनाने का समय नहीं है. आप कहते हैं कि आप किसानों का भला करना चाहते हैं, हम कह रहे हैं कि आप हमारा भला मत कीजिए.

बैठक में कृषि मंत्री ने क्या बोला सूत्रों के मुताबिक, बैठक में एक किसान संगठन के प्रतिनिधि ने कहा कि किसान कृषि कानूनों के खिलाफ सड़कों पर हैं. और उन्होंने मांग किया कि सरकार को इसे वापस लेने पर विचार करना चाहिए. कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने किसानों से बैठक में कहा कि 4 से 5 नाम अपने संगठन से दीजिए, एक समिति बना देते हैं जिसमे सरकार के लोग भी होंगे, कृषि एक्सपर्ट भी होंगे, नए कृषि कानून पर चर्चा करेंगे. लेकिन किसान संगठनों ने सरकार के इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया है.

सरकार की ओर से दिया जा रहा प्रेजेंटेशन सूत्रों के मुताबिक, विज्ञान भवन में किसानों के साथ बैठक में APMC Act and MSP पर सरकार की तरफ से प्रेजेंटेशन दिया जा रहा है. सरकार किसानों को MSP पर समझाने की कोशिश कर रही है. 

कृषि बिल असंवैधानिक, किसानों को सता रही सरकार: ममता बनर्जी किसानों के आंदोलन पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बयान दिया है. उन्होंने कहा कि कृषि बिल असंवैधानिक है. सरकार किसानों को क्यों सता रही है. बीजेपी देश को नहीं देख रही है. ममता बनर्जी ने कहा कि बीजेपी के अलावा किसी भी राजनीतिक दल ने बिल का समर्थन नहीं किया.

सीएम गहलोत बोले- सरकार ने बहुत देर कर दी राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि किसान यूनियनों को बातचीत के लिए केंद्र का निमंत्रण सही दिशा में एक कदम है, लेकिन बहुत देर हो चुकी है. किसानों के आंदोसन को लेकर न केवल देश में बल्कि अन्य देशों में भी चिंता बढ़ रही है, जहां भारतीय मूल के लोग बड़ी संख्या में रहते हैं. किसानों की वास्तविक मांगों को पूरा किया जाना चाहिए.

'यूपी, दिल्ली समेत चार राज्यों के किसानों से भी बात करेगी सरकार' भाकियू के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा कि सरकार शाम 7 बजे यूपी, दिल्ली, उत्तराखंड और हरियाणा के किसानों के साथ बातचीत करेगी. सरकार अभी पंजाब के किसान नेताओं से बातचीत कर रही है. नरेश टिकैत ने कहा कि हम मुद्दों पर आखिरी फैसला चाहते हैं.

No comments