Breaking News

परमाणु बम का आविष्कार किसने किया और कब किया था

Who invented the atomic bomb and when was it invented?

परमाणु बम का आविष्कार अमेरिकी मूल के वैज्ञानिक जूलियस रॉबर्ट ओपेनहाइमर ने किया था। इनकी देखरेख में पहला एटम बम परीक्षण सोमवार 16 जुलाई 1945 को अमेरिका में किया गया था। इस परीक्षण के लिए अमेरिका ने लॉस अलामोस से 200 मील दूर अलेमो गोडो॑ के रेगिस्तान के उत्तर भाग को चुना था। 

19वीं सदी से पहलेेेे इस प्रकार के हथियार को कल्पना ही समझा जाता था। लेकिन अमेरिकी वैज्ञानिक J.Robert Oppenheimer ने इसे साबित कर दिखाया। जब दुनिया में पहला परमाणुुुु बम का परीक्षण कराया गया। उस समय कहीं देश इसे बनाने में लगे हुए थे। यही कारण है कि आज पृथ्वी पर हजारोंं परमाणु बम उपस्थित हैं।

परमाणु बम बनानेे का शुरुआत साल 1939 में ही हो गया था। इसका मुख्य कारण यह था कि इस समय द्वितीय विश्व युद्ध शुरू हो गया था। इसमें जर्मन के एडोल्फ हिटलर ने लगभग पूरे यूरोप में आतंंक मचा रखा था। जिसमें वह लगातार दूसरे यूरोप के देशों पर हमला कर रहा था। इस विश्व युद्ध में जर्मनी का साथ जापान दे रहा था जापान ने अमेरिका के बहुत सेेे बंदरगाह पर बमबारी करके पूरी तरह से तबाह कर दिया था।

इस विश्व युद्ध में अमेरिका को डर था कि अगर हिटलर के वैज्ञानिकोंं ने परमाणु बम बना लिया तो दुश्मन देशों में एटम बम से हमला करके भारी तबाही पहुंचा सकता है। ऐसी स्थिति में अमेरिकी वैज्ञानिकोंं ने राष्ट्रपति को एक पत्र लिखा जिसमें उन्होंने बताया कि हिटलर केेेे आतंक के चलते न्यूक्लियर बम बनाना कितना आवश्यक है और यह बनायाा भी जा सकता है। राष्ट्रपति से अनुमति मिलनेे के बाद अमेरिका में परमाणु बम बनाने के शुरुआत हो गई।

नाभिकीय बम बनाने की कल्पना के साथ 2 दिसंबर 1942 को नाभिकीय क्रियाओ एवं परमाणुु भट्टी के खोजकर्ता एनरिको फर्मी शिकागो विश्वविद्यालय के स्टेडियम केे नीचे बने वीरान कोर्ट में पहली बार अणु विघटन की नियंत्रित श्रृंखला प्रक्रिया की सफलता का परीक्षण किया। और इसके साथ परमाणुुु बम का आविष्कार हो चुका था। अब सिर्फ एटम बम काा परीक्षण बाकी था। इसकेे बाद 16 जुलाई 1945 के दिन दुनिया के पहले न्यूक्लियर बम का सफल परीक्षण हो चुका था।

न्यूक्लीय के सफल परीक्षण के 22 दिन बाद अमेरिका ने 6 अगस्त 1945 को जापान के शहर हिरोशिमा पर एक हवाई जहाज से लिटिल ब्वॉय नामक परमाणु बम गिराया था। इस बम से पूरा शहर और आसपास का इलाका तबाह हो गया था।

इसके 3 दिन बाद 9 अगस्त 1945 को अमेरिका ने जापान के नागासाकी को निशाना बनातेे हुए फैट मैन नामक परमाणु बम गिराया। इसके साथ ही दूसरे विश्व युद्ध का अंत हो गया। जिसमें भी काफी भयंकर तबाही मची जापान के इस दोनों शहर में आज भी तबाही देखने को मिलती हैं।

No comments