Breaking News

कोरोना की दवाई पर बड़ी खुशखबरी, PM मोदी ने बताया इस दिन से मिल जाएगी सबको


कोरोना वायरस (Corona Virus) से देश में रोज़ाना सैकड़ों लोग अपनी जान गंवा रहे हैं और ऐसे में हर नागरिक को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का इंतज़ार कर रहा है. लेकिन आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने वैक्सीन को लेकर शुभ समाचार (Good News) दिया और बताया कि अगले कुछ हफ्तों में कोरोना की वैक्सीन आ जाएगी.

पीएम मोदी का बड़ा ऐलान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा कि "लगभग 8 टीके भारत में उनके विनिर्माण आश्वासन के साथ परीक्षण के अन्य चरणों में हैं. भारत के 3 टीके विभिन्न चरणों में हैं, विशेषज्ञों का मानना है कि टीका बहुत दूर नहीं है. जैसे ही हम वैज्ञानिकों से आगे बढ़ेंगे, भारत का टीकाकरण शुरू हो जाएगा."

प्रधानमंत्री ने की सर्वदलीय बैठक कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) पर रणनीति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज सर्वदलीय बैठक की. वर्चुअल बैठक में प्रमुख दलों के नेता शामिल हुए. सर्वदलीय बैठक में कोरोना वैक्सीन पर चर्चा हुई. इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के वैज्ञानिकों में आत्मविश्वास भरा हुआ है. अगले कुछ हफ्ते में कोरोना वैक्सीन तैयार हो जाएगी. प्रधानमंत्री ने इस बैठक में वैक्सीन को लेकर बड़ी बात कही और बताया कि कोरोना की वैक्सीन पहले बुजुर्गों और कोरोना वॉरियर्स को मिल सकती है. साथ ही इस वैक्सीन की कीमत को लेकर लोगों के मन में उठ रहे सवालों का जवाब भी दिया.

पीएम ने दिया हर सवाल का जवाब PM मोदी ने कहा कि "पहले चरण में, स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन श्रमिकों और गंभीर परिस्थितियों से पीड़ित बूढ़े लोगों को टीकाकरण प्रदान किया जाएगा. वैक्सीन के वितरण के लिए केंद्र और राज्य सरकार की टीमें मिलकर काम कर रही हैं. भारत में वैक्सीन वितरण के साथ-साथ क्षमता के लिए विशेषज्ञता है. टीकों की लागत पर सवाल केवल स्पष्ट है. केंद्र और राज्य सरकार एक ही पर चर्चा कर रहे हैं. वैक्सीन की लागत सार्वजनिक स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए तय की जाएगी और राज्य सरकारें इसमें प्रमुख भूमिका निभाएंगी. कोरोना वैक्सीन के लिए टास्क फोर्स बनाई गई है. वैज्ञानिकों से बातचीत का जिक्र किया. सबसे पहले बीमारों और बुजुर्गों को वैक्सीन दी जाएगी."

वैक्सीन की कीमत क्या होगी, इस पर केंद्र और राज्य मिलकर फैसला लेंगे. कीमत पर फैसला लोगों को देखते हुए किया जाएगा. बैठक में पीएम मोदी (Narendra Modi) ने ये भी कहा कि देश के वैज्ञानिकों में आत्मविश्वास भरा हुआ है. अभी आठ ऐसी वैक्सीन हैं, जो ट्रायल के चरण में बनी हुई हैं. पीएम मोदी ने कहा कि वैज्ञानिकों की ओर से मंजूरी मिलते ही वैक्सीन के डिस्ट्रीब्यूशन पर काम शुरू हो जाएगा. कोरोना वैक्सीन के लिए टास्क फोर्स बनाई गई है. सरकार ने एक नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप भी बनाया है, जिसकी सिफारिश के बाद ही काम होगा. साथ ही भारत एक विशेष सॉफ्टवेयर पर काम कर रहा है, जो हर किसी को वैक्सीन पहुंचाने पर ट्रैकिंग करेगा.

भारत का आत्मविश्वास तेजी से बढ़ा पीएम मोदी ने बताया कि केंद्र सरकार बड़े स्तर पर वैक्सीन बांटने को लेकर काम कर रही है, जो राज्य सरकार की मदद से ही हो पाएगा. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि डर के माहौल से आत्मविश्वास के माहौल की तरफ भारत तेजी से बढ़ा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि "हम टीकाकरण कार्यक्रमों में अनुभव के साथ सबसे बड़े नेटवर्क में से एक हैं. राज्य सरकार की सहायता से, अन्य आवश्यक कोल्ड-चेन स्टोरेज और लॉजिस्टिक समर्थन को मापा जा रहा है. टीका स्टॉक और वास्तविक समय की जानकारी के लिए एक विशेष सॉफ्टवेयर भी विकसित किया गया है."

वैक्सीनेशन अभियान में अफवाहों से बचें वैक्सीन को लेकर हुई इस बैठक के बाद पीएम मोदी ने लोगों को सावधान रहने के लिए भी कहा, उन्होनें कहा कि वैक्सीन को लेकर किसी तरह की अफवाह ना फैले और वैक्सीन का आना राष्ट्रहित में हो, इसके लिए राजनीतिक पार्टियों को जागरुक होना होगा.

PM ने कहा कि "फरवरी-मार्च की आशंकाओं भरे, डर भरे माहौल से लेकर आज दिसंबर के विश्वास और उम्मीदों भरे वातावरण के बीच भारत ने बहुत लंबी यात्रा तय की है. अब जब हम वैक्सीन के मुहाने पर खड़े हैं तो वही जनभागीदारी, वही साइंटिफिक अप्रोच, वही सहयोग आगे भी बहुत जरूरी है. हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि टीकाकरण के दौरान अफवाहें न फैलाई जाएं, ऐसी अफवाहें जो देश विरोधी और मानव विरोधी हैं. इस प्रकार, सभी राजनीतिक दलों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हम सभी भारतीयों को इस तरह की अफवाहों से बचाएं.

पूरी दुनिया की भारत पर नजर

उन्होंने कहा कि "दुनिया की नजर कम कीमत वाली सुरक्षित वैक्सीन पर है, और इसलिए स्वाभाविक है कि पूरी दुनिया की नजर भारत पर भी है. वैक्सीन के वितरण को लेकर काम किया जा रहा है. टीकाकरण के लिए भारत की विशेषज्ञता अहम है. कोरोना वैक्सीन को लेकर जो विश्वास इस चर्चा में नजर आया है वो कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई को और मजबूत करेगा. इस बारे में बीते दिनों में मेरी मुख्यमंत्रियों से चर्चा हुई थी. टीकाकरण को लेकर राज्य सरकारों के अनेक सुझाव भी मिले थे."
सर्वदलीय बैठक में कौन-कौन शामिल?
कांग्रेस- अधीर रंजन चौधरी
कांग्रेस- गुलाम नबी आजाद
बीएसपी- सतीशचंद्र मिश्रा
समाजवादी पार्टी- रामगोपाल यादव
एनसीपी- शरद पवार
डीएमके- टीआर बालू

प्रधाममंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत में कोरोना के रिकवरी रेट पर भी खुशी जाहिर की. उन्होंने सर्वदलीय संवाद के दौरान सभी प्रमुख पार्टियों को इस बैठक में चर्चा की. कांग्रेस समेत कई दलों के नेताओं के इस बैठक में शामिल भी हुए.

No comments