Breaking News

अद्भुत है यह शिव मंदिर, सदियों से अपने आप हो रहा जलाभिषेक, वैज्ञानिक भी हैरान

This Shiva temple is amazing, Jalabhishek has been happening on its own for centuries, scientists are also surprised

मान्यता है कि यहां आने वाले हर श्रद्धालु की भगवान हर मनोकामना पूरी करते हैं। इस मंदिर की गहराई में एक शिवलिंग है और उसके ठीक ऊपर गंगा की प्रतिमा है, जिसकी हथेली पर से गुजरते हुआ आज भी गंगा जल शिविलंग पर गिरता है.

ऐसे में हम आपको एक ऐसे मंदिर की जानकारी दे रहे हैं, जहां सालों भर भगवान शिव का खुद जलाभिषेक होता रहता है, वो भी 24 घंटे। यह मंदिर झारखंड के रामगढ़ जिले में है।इसका जिक्र पुराणों में भी बतया जाता है।

मान्यता है कि यहां आने वाले हर श्रद्धालु की भगवान हर मनोकामना पूरी करते हैं। इस मंदिर की गहराई में एक शिवलिंग है और उसके ठीक ऊपर गंगा की प्रतिमा है, जिसकी हथेली पर से गुजरते हुआ आज भी गंगा जल शिविलंग पर गिरता है। इस कारण यह मंदिर श्रद्धालुओं में आस्था का प्रतिक है। यह मंदिर टूटी झरना मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है।

भगवान शिव के साथ कृष्ण की भी पूजा करें: सावन महीने में सिर्फ में भगवान शिव की ही नहीं, बल्कि भगवान कृष्ण की भी पूजा करनी चाहिए। ज्यादातर लोग यह मानते हैं सावन सिर्फ भगवान शिव की पूजा करने के लिए है।

श्रावण कृष्ण पक्ष की अष्टमी से भादौ कृष्ण पक्ष की अष्टमी या श्रीकृष्ण जन्मास्टमी तक जो इंसान भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करता है, उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है।

No comments