Breaking News

बुजुर्ग पिता का छलका दर्द, सारी उम्र बच्चों का भविष्य बनाने में लगाई, अब नहीं देते रोटी

Spoof pain of elderly father, spent his whole life in making future for children, no longer offers bread

माता-पिता अपने बच्चों की हर इच्छा पूरी करने के कोशिश करते हैं, लेकिन वही बच्चे जब अपने पैरों पर खड़े हो जाते हैं और माता-पिता बुजुर्ग हो जाते हैं तो उन पर बोझ लगता है। ऐसी ही व्यथा लेकर एक 66 वर्षीय बुजुर्ग फरीदाबाद पुलिस आयुक्त ओपी सिंह के पास मंगलवार दोपहर को पहुंचा। गुहार लगाई कि मैने अपनी सारी उम्र बच्चों के भविष्य बनाने में लगा दी, लेकिन आज मुझे दो वक्त की रोटी नसीब नहीं हो रही हैं। अब बताओ साहब मैं कहां जाऊं, क्या करूं। बुजुर्ग ने बताया कि उन्हें आज भी खाना नहीं दिया गया है, सुबह से भूखे हैं, यह सुनकर आयुक्त ने तुरंत उन्हें खाना खिलाया।

पुलिस आयुक्त ने आश्वस्त किया कि उनकी समस्या का जल्द समाधान किया जाएगा। इस बारे में संबंधित थाना प्रभारी को निर्देश भी दिए गए। पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने कहा कि बुजुर्ग को न्याय दिलाया जाएगा। बुजुर्ग मां-बाप की सेवा करना संतान का धर्म है। माता-पिता को परेशान करने पर बच्चों पर कार्रवाई का प्रावधान है।

पुलिस आयुक्त कार्यालय पहुंचे बुजुर्ग ने बताया कि वह मुजेसर में रहते हैं और अधिवक्ता हैं। उन्हें न केवल उनके बेटे परेशान कर रहे हैं, बल्कि पत्नी भी साथ नहीं दे रही है। उन्होंने बताया कि उनके दो बेटे और एक बेटी है। यहां उन्होंने कई बड़ी नामी कंपनियों में काम किया है। साथ ही अधिवक्ता की डिग्री भी हासिल की है। उन्होंने अपनी मेहनत से दो प्लाट खरीदे, जो अब उनके बेटों के नाम पर हैं। उनके दोनों बेटे उनके साथ आए दिन छोटी-मोटी बात को लेकर उनके साथ झगड़ा करते हैं। उन्हें खाना भी नहीं देते हैं।

पुलिस आयुक्त ने कहा कि बुजुर्ग अपने परिवार और इस समाज का अभिन्न अंग हैं। उन्हें सम्मान अवश्य मिलना चाहिए। इसके लिए आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। बुजुर्ग को उनका हक दिलवाया जाएगा। पुलिस आयुक्त से आश्वासन मिलने के पश्चात बुजुर्ग ने उनका धन्यवाद किया और कहा कि उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही उनकी समस्या का हल हो जाएगा।

No comments