Breaking News

चमत्कार: दुश्मन भी टेक देगा घुटने, दीपक जलाने के बाद इस मंत्र का करें जाप

Miracle: Enemy will also kneel, chant this mantra after lighting a lamp

हनुमान परमेश्वर की भक्ति (हिंदू धर्म में भगवान की भक्ति) की सबसे लोकप्रिय अवधारणाओं और भारतीय महाकाव्य रामायण में सबसे महत्वपूर्ण व्यक्तियों में प्रधान हैं। वह कुछ विचारों के अनुसार भगवान शिवजी के 11वें रुद्रावतार, सबसे बलवान और बुद्धिमान माने जाते हैं। रामायण के अनुसार वे जानकी के अत्यधिक प्रिय हैं।मंत्रों में बहुत सारी शक्तियां होती हैं, जिनके बल पर हर काम को सिद्ध किया जा सकता है। पवनपुत्र हनुमान अष्ट सिद्धि और नव निधियों के दाता हैं। 

वह नामुमकिन को भी मुमकिन करने की शक्ति रखते हैं। यदि आपकी कुंडली में नवग्रहों से संबंधित किसी भी दोष या शत्रुओं से परेशान चल रहे हैं तो हनुमान चालीसा की इस चौपाई का एक माला जाप करें। हनुमान जी श्री राम के हर कार्य में सहाय हुए हैं। यह लेख पूरी तरह से रंगीन दुनिया ग्रुप्स की प्रापर्टी है। इसे कॉपी करना कानूनी तौर से इलीगल है। आप भी अपने शत्रुओं पर विजय पाना चाहते हैं या किसी भी तरह के संकट को मुंहतोड़ जवाब देना चाहते हैं तो इस चौपाई का जाप आपके लिए राम बाण है। जिसका वार कभी खाली नहीं जाता।

चौपाई- संकट ते हनुमान छुड़ावै, मन क्रम वचन ध्यान जो लावै।
इस विधि से करें जाप- हनुमान जी के मंदिर जाएं, संभव न हो तो घर पर ही हनुमान जी के चित्रपट अथवा प्रतिमा के सामने बैठकर सबसे पहले हनुमान जी को शुद्ध देसी घी मिलाकर सिंदूर लगाएं। गुलाब के फूलों का हार पहनाएं। मीठे पान (बिना चूना लगा हुआ) का भोग लगाएं। सरसों के तेल का दीपक लगाने के बाद इस चौपाई का जाप करें।
यह लेख पूरी तरह से रंगीन दुनिया ग्रुप्स की प्रापर्टी है।

इस चौपाई का जाप प्रतिदिन नहीं कर सकते तो मंगलवार या शनिवार को करें। इसमें इतनी शक्ति है, किसी भी तरह की ऊपरी बाधा अपना प्रभाव नहीं दिखा पाती। शनि- मंगल से संबंधित सभी दोष शांत होते हैं। ज्योतिष के अनुसार हनुमान जी की पूजा से व्यक्ति की कुंडली में उत्पन्न हुए समस्त अशुभ ग्रह दोषों का प्रभाव स्वत: ही समाप्त हो जाता है। तभी तो प्रत्येक मंगलवार और शनिवार को हनुमान मंदिरों में भक्तों का तांता लगा रहता है।

No comments