Breaking News

ये फूल आपको बना देगा बला की खूबसूरत, कई बीमारियों के इलाज में भी है मददगार

ये फूल आपको बना देगा बला की खूबसूरत, कई बीमारियों के इलाज में भी है मददगार

आक का फूल छोटा, सफेद और कटोरीनुमा आकार का होता है। साथ ही लाल व बैंगनी रंग की चित्तियां होती हैं। आक के पौधे की जड़ में मंडारएल्बन और फ्युएबिल नामक रसायन पाया जाता है। ये पौधा आम नहीं है इसमें कई बीमारियों का इलाज छुपा हुआ है। myUpchar में प्रकशित जानकारी के मुताबिक मदार या आक औषधीय पौधा, जो पूरे भारत में बंजर जमीन, खुले तथा शुष्क क्षेत्र में अपने-आप उगता है। यह कई शारीरिक परेशानियों से छुटकारा दिला सकता है।

हल्दी के 3 ग्राम चूर्ण को आक के दो चम्मच दूध और गुलाब जल में अच्छी तरह से मिला लें। इसका लेप चेहरे पर लगाएं, इससे त्वचा मुलायम होती है। ध्यान रहे इसे आंख पर न लगने दें। जिनकी त्वचा पहले से मुलायम है और चेहरे पर निखार लाना चाहते हैं तो उन्हें आक के दूध के स्थान पर आक का रस इस्तेमाल करना चाहिए। खबर के मुताबिक इस फूल का उपयोग सिर व कान दर्द में उपयोग किया जा सकता है। इसके दूध को सिर पर लगाने से माइग्रेन में फायदा मिलता है। आक के पत्तों का रस कान में डालने से कान से संबंधित रोग जैसे कान में मवाद आना, सांय-सांय की आवाज आना, दूर होते हैं।

आक की सूखी छाल को कूटकर इसमें 20 ग्राम गुलाब जल मिलाएं और इसे 5 मिनट के लिए रख दें। फिर इसे आंखों में 3 से 4 बूंद डालें. इससे आंखों का लाल होना, भारीपन, आंखों में दर्द या खुजली जैसी समस्या दूर हो जाती है। वहीं आक के दूध में रूई भिगोकर घी में अच्छी तरह से मसल लें और फिर इसे दाढ़ पर रख लें। इससे दांत या दाढ़ का दर्द तत्काल दूर हो सकता है।

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें।

No comments