Breaking News

165 लोगों में फैल चुका है नया कोरोना, जानिये नए वायरस के लक्षण और बचने के उपाय

कोरोना वायरस के ब्रिटेन में पाये गये नये स्वरूप से भारत में संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़ कर 165 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। इनमें से प्रत्येक मरीज को संबद्ध राज्य सरकारों द्वारा निर्धारित स्वास्थ्य देखभाल संस्थानों में अलग-अलग कमरों में रखा गया है। उनके करीबी संपर्क में रहे लोगों को भी पृथक रखा गया है।

संपर्क में आये सह-यात्रियों, परिवार में सपंर्क में आये लोगों और अन्य का पता लगाने की व्यापक स्तर पर कोशिश की जा रही है। मंत्रालय ने कहा, 'कोरोना वायरस के ब्रिटेन में पता चले नये स्वरूप से संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़ कर 165 पहुंच गई है।'
कोरोना वायरस के ब्रिटेन में पता चले नये स्वरूप के मामले डेनमार्क, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन, स्विटजरलैंड, जर्मनी, कनाडा, जापान, लेबनान और सिंगापुर में भी सामने आ चुके हैं। भारत सरकार ने कोरोना वायरस के नये स्वरूप का ब्रिटेन में पता चलने पर संज्ञान लिया और इसकी रोकथाम के लिए एहतियाती कदम उठाये हैं।
नए कोरोना वायरस को 'VUI 202012/01' नाम दिया गया है। इस नए संस्करण में 'स्पाइक' प्रोटीन में एक आनुवंशिक परिवर्तन शामिल है जो लोगों में वायरस के तत्काल और आसान प्रसार का कारण हो सकता है। जबकि यह वैरिएंट इंग्लैंड के दक्षिण-पूर्व में था, अब इसने दुनिया के अन्य सभी हिस्सों में भय पैदा कर दिया है।

कहा जाता है कि इस वेरिएंट में कम से कम 17 म्यूटेशन होते हैं, जो वायरस के आकार को प्रभावित कर सकते हैं, जिसमें स्पाइक प्रोटीन भी शामिल है जो कोरोना वायरस परिवार को अपना नाम देता है। वैज्ञानिकों ने सुझाव दिया है कि यह नया स्ट्रेन वायरस के तेजी से फैलने के पीछे का कारण हो सकता है।

नए कोरोना वायरस के लक्षण (alarming symptoms of new COVID variant)

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC) ने नए कोरोना वायरस के लक्षणों की एक सूची तैयार की है और लोगों से इन पर नजर रखने की अपील की है। इसके कई लक्षण कोविड-19 के समान हैं। हालांकि इसमें अधिक व्यापक रूप से और अधिक गति से फैलने की क्षमता है। सीडीसी ने इसके पांच खतरनाक चेतावनी संकेत प्रकाशित किए हैं।

- सांस की तकलीफ
- भ्रम की स्थिति
- लगातार सीने में दर्द होना
- थके हुए और जागते रहने में असमर्थ
- नीले होंठ या चेहरा
कितना खतरनाक है नया कोरोना वायरस ?

हाल ही में लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, नए कोरोना वायरस से यूके में अधिक मौत और मामले बढ़े हैं। विशेषज्ञों को यह भी डर है कि वर्ष 2020 की तुलना में वर्ष 2021 में म्यूटेशन से अधिक मौतें हो सकती हैं।

वेंडी बार्कले, न्यू एंड इमर्जिंग रेस्पिरेटरी वायरस थ्रेटस एडवाइजरी ग्रुप (NERVTAG) के प्रोफेसर और लंदन के इंपीरियल कॉलेज में वायरोलॉजी के एक विशेषज्ञ ने कहा है कि यह कोशिकाओं में आसानी से प्रवेश कर सकता है। इससे बच्चों को संक्रमित होने की अधिक संभावना है।

लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन द्वारा किए गए एक अन्य शोध ने दावा किया गया है कि नया कोरोना वायरस अन्य उपभेदों की तुलना में 56-70 प्रतिशत अधिक संक्रामक है।

नए कोरोना वायरस से बचने के तरीके (prevention tips for new strain)

1) अपने हाथों को बार-बार और सावधानी से धोएं। गर्म पानी और साबुन का प्रयोग करें और कम से कम 20 सेकंड के लिए अपने हाथों को रगड़ें। अपनी उंगलियों के बीच, और अपने नाखूनों के नीचे, अपनी कलाई को भी धोएं।

2) अपने चेहरे को छूने से बचें। वायरस कुछ सतहों पर 72 घंटे तक रह सकता है। यदि आप किसी सतह को छूते हैं तो आप आपके हाथों पर वायरस चिपक सकता है। इसलिए अपने मुंह, नाक और आंखों सहित अपने चेहरे या सिर के किसी भी हिस्से को छूने से बचें। इसके अलावा अपने नाखूनों को काटने से बचें।

3) हाथ मिलाना और लोगों को गले लगाना बंद करें। इसी तरह, अन्य लोगों को छूने से बचें। त्वचा से त्वचा का संपर्क वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक पहुंचा सकता है।

4) पर्सनल आइटम साझा न करें। अपना किसी भी तरह का सामान साझा न करें। खाने के बर्तनों और तिनकों को साझा न करना भी महत्वपूर्ण है। बच्चों को अपना सामन पहचानना सिखाएं।

5) खांसने और छींकने पर अपना मुंह और नाक ढक लें। नाक और मुंह में उच्च मात्रा में पाया जाता है। इसका मतलब यह है कि जब आप खांसते, छींकते या बात करते हैं तो इसे हवा की बूंदों के जरिए दूसरे लोगों तक पहुंचाया जा सकता है। छींकने या खाँसी होने पर, परवाह किए बिना, अपने हाथों को सावधानी से धोएँ।

6) अपने घर में कठोर सतहों को साफ करने के लिए अल्कोहल-आधारित कीटाणुनाशकों का उपयोग करें। दरवाज़े का हैंडल, फर्नीचर, खिलौने, अपने फोन, लैपटॉप और अन्य किसी भी चीज़ को आप दिन में कई बार नियमित रूप से इस्तेमाल करें।

No comments