Breaking News

24 वर्षीय युवा कौशल मुँगटा ने 6 हजार से अधिक मतों से हासिल की जीत

शिमला : जिला के जुब्बल तहसील के अंतर्गत वार्ड नम्बर 09 सरस्वती नगर से 24 वर्षीय युवा कौशल मुँगटा ने पूरे जिला शिमला में सबसे अधिक 6154 मतों से जीतकर व 10328 मत हासिल कर नया कीर्तिमान स्थापित किया है, जिला के इतिहास में ये पहला मौक़ा है की इतनी छोटी उम्र में कोई इतने मतों से जीतकर 19 पंचायतों की कमान संभालने आगे आया हो। पेशे से वकील कौशल मुंगटा बचपन से ही समाजसेवा से जुड़े हुये हैं तथा अनेकों सामाजिक संस्थाओं में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर चुके हैं। 20 नवम्बर 1996 को जुब्बल तहसील के दूर दराज की पंचायत सोलँग में एक बागवान के घर जन्मे कौशल मुँगटा की स्कूली शिक्षा अपने ही गाँव सोलँग, सरस्वती नगर, व शिमला के लालपानी व संजौली कॉलेज से हुई है। गरीबों से जुड़े मुद्दों व सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ लड़ने वाले मुँगटा हमेशा ही पहली पंक्ति में समाज के आवाज उठाने के लिये खड़े रहते हैं। 

मात्र 17 वर्ष में पहली बार धरने पर बैठने वाले मुँगटा छोटी उम्र से ही सरकार के सामने खड़े होने का माधा रखते आये हैं। कौशल मुँगटा अनेकों संस्थाओं के माध्यम से रक्तदान शिविर, नशामुक्ति अभियान, स्वास्थ्य कैम्प लगाते आये हैं। हिमाचल के सबसे युवा व बहुचर्चित कवि व लेखक होने का खिताब भी कौशल मुँगटा साथ लिये हुये है। जिनकी एक पहली पुस्तक मात्र 18 वर्ष में ही प्रकाशित हो चुकी है जिसका विमोचन तत्कालीन मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने किया था। 100 से अधिक गानों को अपने शब्दों से पिरो चुके मुँगटा, हिमाचल के ठेठ पहाड़ी संस्कृति को अपनी लेखनी के माध्यम से बढ़ावा देते आये हैं। जिला परिषद सदस्य बनने के बाद मुँगटा का कहना है कि प्रत्येक तबके की आवाज को मजबूती से उठाया जायेगा व सरस्वती नगर को पूरे प्रदेश में सर्वश्रेष्ठ वार्ड बनाने का प्रयास किया जायेगा युवाओं के उतत्थान के लिये भरसक प्रयास किये जाएँगे, राजनीति को समाजसेवा का माध्यम मानने वाले मुँगटा आज लोगों के बीच दलगत राजनीति से ऊपर उठकर एक अलग पहचान बना चुके हैं। उन्होंने युवाओं को संदेश देते हुये कहा है कि युवा चाहे तो राजनीति क्या हर क्षेत्र में अपना झंडा बुलंद कर सकता है और समाज की दिशा और दशा को बदल सकता है लेकिन जरूरत है तो सोच बदलने की और समाज के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने की। 

No comments