Breaking News

हाथों से अभी तक नहीं छूटी थी मेहंदी, पति के सामने जिंदा जली पत्नी

हाथों से अभी तक नहीं छूटी थी मेहंदी, पति के सामने जिंदा जली पत्नी

नए साल से एक दिन पहले देर रात उत्तर प्रदेश में दर्दनाक हादसा हो गया। जहां कार में आग लगने से एक नवविवाहिता की जिंदा जलने से मौत हो गई। इस हादसे में पत्नी को बचाने के चक्कर में ​पति भी आग में झुलस गया। आग इतनी तेज थी कि महिला को बाहर निकलने का मौका न​हीं मिला। वह अंदर ही रह गई।

दरअसल पति-पत्नी मथुरा-वृंदावन से दर्शन करके लखनऊ वापसी हो रहे थे। वहीं बीच रास्ते में अचानक कार के बोनट से धुआं उठाता दिखा। उन्होंने कार सड़क किनारे रोक ​ली। कार के बोनट खोलकर धुआं आने का कारण जानना चाहते थे। रीमा कार में अंदर ही बैठी थीं। तब तक बोनट से लगी आग कार में अंदर तक फैल गई। सेंट्रल लाक सिस्टम फेल हो गया।

मिली जानकारी के अनुसार घटना देर रात गुरूवार की है। मोहनलाल गंज, लखनऊ निवासी विकास यादव पुत्र मुन्नीलाल यादव की दो दिसंबर को कृष्णा नगर, कालिया खेड़ा (लखनऊ) निवासी रीमा पुत्री हरनाथ के साथ शादी हुई थी। पति-पत्नी बुधवार को मथुरा-वृंदावन दर्शन करने आए थे। बुधवार की रात वहीं पर रुके।

विकास ने पत्नी को बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन वह सफल नहीं हुए। पत्नी को बचाने में विकास झुलस गए। उनकी आंखों के सामने कार में पत्नी जल रही थी। वह बचा नहीं पाए। पुलिस को काल करके सूचना दे दी। कोहरे के कारण करीब एक घंटे में पुलिस वहां पहुंची। इसके बाद दमकल की गाड़ी पहुंची। तब तक आग में रीमा जल चुकी थी। कार में बस उनका कंकाल बचा था। शुक्रवार की सुबह विकास और रीमा के परिजन फतेहाबाद थाने पहुंचे।

रीमा की मौत ने दोनों परिवारों को हिला दिया है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। परिजनों ने बताया कि अभी तो रीमा के हाथों की मेहंदी तक नहीं छूटी थी। शादी को दिन ही कितने हुए थे।

No comments