Breaking News

आज दिल्ली में बंद रहेंगे कई रास्ते, घर से निकलने से पहले हो जाएं सावधान

आज दिल्ली में बंद रहेंगे कई रास्ते, घर से निकलने से पहले हो जाएं सावधान

अगर आप दिल्ली-एनसीआर में रहते हैं और घर से बाहर निकलने की प्लानिंग कर रहे हैं तो सावधान हो जाएं. क्योंकि आज गणतंत्र दिवस और किसानों की ट्रैक्टर रैली के मद्देनजर कई रास्ते बंद किए गए हैं तो कई रूट डायवर्ट कर दिए गए हैं. सड़कों पर बड़े-बड़े कन्टेनर रखे गए हैं यानी गाड़ी क्या उन रास्तों से इंसान भी नहीं गुजर पाएगा. क्रेन से सीमेंट के बड़े बड़े टुकड़े बिछाए गए हैं. यानी कि यहां से हर कीमत पर जाना मना है. ट्रैक्टर मार्च के लिए जो रास्ते तय किए गए हैं सिर्फ वही रास्ता खोला गया है, बांकि रास्तों को पूरी तरह बंदकर दिया है.

गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर मार्च और इसमें पाकिस्तान की साजिश के खुलासे के बाद दिल्ली पुलिस और सुरक्षा एजेंसिया हाई अलर्ट पर हैं. दिल्ली में हर आने जाने वालों पर नजर रखी जा रही है. लगातार हर गाड़ी की चेकिंग की जा रही है. परेड में शामिल होने वालों के लिए रास्ता तय कर दिया गया है.

जो रुट्स प्रभावित रहेंगे वो हैं- 
दिल्ली यातायात पुलिस ने यात्रियों से उन मार्गों से बचने को कहा है जहां प्रदर्शनकारी किसान गणतंत्र दिवस पर अपनी ट्रैक्टर परेड करेंगे. संयुक्त पुलिस आयुक्त (यातायात) मीनू चौधरी ने कहा कि पहली रैली सिंघू बॉर्डर से संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर, डीटीयू, शाहाबाद डेयरी, बरवाला गांव, पूठ खुर्द गांव, कंझावला टी-पॉइंट, कंझावला चौक, कुतुबगढ़, औचंदी बॉर्डर और खरखौदा टोल प्लाजा को जाएगी.

उन्होंने कहा, 'राष्ट्रीय राजमार्ग-44 और जीटी करनाल रोड की ओर जाने वाले यातायात को सिंघू शनि मंदिर, अशोक फार्म/ जंती टाल, हमीदपुर, सुंदरपुर माजरा, जिंदोपुर मुखमेलपुर, कादीपुर, कुशक कॉलोनी, मुकरबा चौक और जीटीके डिपो से मोड़ा जाएगा. बवाना रोड की ओर जाने वाले यातायात को जेल रोड, केएनके मार्ग, जी3एस मॉल, मधुबन चौक, रोहिणी पूर्व मेट्रो स्टेशन, रिठाला चौक, पंसाली चौक, हेलीपैड टी-प्वाइंट, उत्सव रोड, डीएसआईआईडीसी रोड सेक्टर -4, नरेला बवाना रोड, चित्रा धर्म कांटा, डीएसआईआईडीसी गोल चक्कर और झंडा चौक से मोड़ा जाएगा. कंझावला रोड की ओर जाने वाले यातायात को कराला, कंझावला गांव, जाउंटी टोल और कुतुबगढ़-गढ़ी रोड से मोड़ा जाएगा.'

पुलिस ने बताया कि किसानों की दूसरी रैली टिकरी बॉर्डर से शुरू होगी और फिरनी रोड, झाडौदा बॉर्डर, रोहतक बाईपास (बहादुरगढ़) और आसोदा टोल प्लाजा छोड़कर नांगलोई, बापरोला गांव और नजफगढ़ से होकर गुजरेगी. सोमवार शाम से इन मार्गों पर यातायात का प्रबंधन करने की व्यवस्था की गई है. मोटर चालकों को किसान ट्रैक्टर परेड के मार्गों से बचने की सलाह दी जाती है.

जमीन से लेकर आसमान तक कड़ी सुरक्षा
गणतंत्र दिवस परेड को लेकर 4 लेयर से सुरक्षा पुख्ता की गई है. सबसे भीतरी घेरे में सेना के जवान, NSG कमांडो, और खुफिया एजेंसियां रहेंगी. दूसरा सुरक्षा अर्ध सैनिक बलों की 20 कंपनियां यानी करीब 2000 जावन. तीसरे लेयर में दिल्ली पुलिस के 7000 जवान, पुलिस की अतिरिक्त कंपनियां, क्विक रिस्पांस टीम, स्वैट कमांडो व्हीकल्स, बम डिटेक्टिव टीम, और ट्रैफिक पुलिस के जवान तैनात रहेंगे.

इसके अलावा परेड वाली जगह पर 30 पॉइंट्स पर हाई डेफिनेशन सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. ये कैमरे फेस रिकॉग्निश तकनीक से लैस हैं, जिनमें 50,000 के लगभग टेररिस्ट और अपराधियों का डेटा फीड है. यानी इन कैमरों की नजर में आते ही संदिग्ध या आतंकी की पूरी जानकारी सुरक्षा एजेंसियों को मिल जाएगी. इसके अलावा भी परेड रूट पर 200 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. बाहरी लेयर पर चप्पे चप्पे पर पुलिस और अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है. इन चार प्रमुख सुरक्षा घेरों के अलावा दिल्ली पुलिस, अर्ध सैनिक बल और एनएसजी का डॉग स्क्वायड भी लगातार सुरक्षा जांच में एक्टिव हैं.

जमीन से लेकर आसमान तक सुरक्षा कड़ी की गई है. दिल्ली में रात से ही बड़ी इमारतों पर 100 स्नाइपर तैनात कर दिए गए हैं. एंटी एयरक्राफ्ट तकनीक से लैस गन लगाए गए हैं. लुटियन जोन की उंची इमारतों पर 10 कैमरों से हवाई हमलों की निगरानी की जा रही है. आज परेड के दौरान लुटियंस जोन के ऊपर किसी भी एयरक्राफ्ट की इजात नहीं होगी.

No comments