Breaking News

सिडनी टेस्ट ड्रॉ होने के बाद देखें टेस्ट चैंपियनशिप प्वॉइंट्स टेबल का हाल, हुआ बड़ा बदलाव

सिडनी टेस्ट ड्रॉ होने के बाद देखें टेस्ट चैंपियनशिप प्वॉइंट्स टेबल का हाल, हुआ बड़ा बदलाव

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफ़ी का सिडनी टेस्ट खेला जा चुका है. ड्रॉ पर खत्म हुए इस मैच में दोनों ही टीमों ने काफ़ी शानदार क्रिकेट खेली. मैच के दूसरे दिन ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ और मैच के पांचवें दिन भारतीय बल्लेबाज़ों के बेहतरीन प्रदर्शन ने मैच को एक रोमांचक अंत दिया.

सिडनी टेस्ट के ड्रॉ होने के बाद इसका असर आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की अंक तालिका पर भी पड़ा है. मैच न जीतने की सूरत में नुक़सान दोनों ही टीमों को हुआ. तो चलिए देखते हैं कि सिडनी टेस्ट के बिना नतीजे के खत्म होने के बाद टेस्ट चैंपियन की ताज़ा अंक तालिका की क्या स्थिति है.

दोनों टीमों को हुआ ड्रॉ से प्रतिशत में नुक़सान

सीरीज़ के पहले मैच में 8 विकेट की रिकॉर्ड जीत के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम के विनिंग प्रतिशत में काफ़ी बेहतर इज़ाफ़ा हुआ था. हालांकि मेलबर्न हुए सीरीज़ के दूसरे टेस्ट में भारत से मिली 8 विकेट की हार के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम को अंक तालिका में उसका खामियाजा भुगतना पड़ा था.

सिडनी टेस्ट के ड्रॉ होने के बाद दोनों टीमों के जीत प्रतिशत में कमी आई है. इस मैच से ऑस्ट्रेलिया का प्रतिशत 76.7 था जबकि इस मैच में जीत से महरूम रहने की वजह से अब उसका प्रतिशत गिरकर 73.8 हो चुका है. भारतीय टीम के प्रतिशत की बात करें तो वो इस मैच से पहले 72.2 था जो अब गिर कर 70.2 पर आ पहुंचा है.

भारतीय टीम के पास वापसी का बेहतर मौका
आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप की अंक तालिका के ज़ाविए से अगर बाकी टीमों की स्थिति के बारे में बात करें तो तीसरे नंबर पर काबिज़ न्यूज़ीलैंड ने बीते दिनों पाकिस्तान के खिलाफ़ हुई घरेलू टेस्ट सीरीज़ में शानदार प्रदर्शन करते हुए अपने जीत प्रतिशत में काफ़ी हद तक सुधार किया था.

भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ ब्रिसबेन में होने वाले चौथे टेस्ट के बाद 5 फ़रवरी से इंग्लैंड के खिलाफ़ घरेलू टेस्ट सीरीज़ भी खेलनी हैं. घरेलू माहौल में होने वाली सीरीज़ में कहीं न कहीं ये कहा जा सकता है कि भारतीय टीम का पलड़ा इंग्लिश टीम के मुक़ाबले थोड़ा भारी रहेगा.

फ़ाइनल में नज़र आ सकती हैं भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीम

अब बात आती है कि 10 जून से लॉर्ड्स के मैदान पर खेले जाने वाले आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फ़ाइनल में किन दो टीमों को खेलने का मौका मिलेगा. ये सवाल इसलिए भी अहम हो जाता है क्योंकि शीर्ष की 3 टीमों के जीत प्रतिशत में ज़्यादा फ़र्क़ नहीं है.

लेकिन अगर आँकड़ों के लिहाज़ से देखा जाए तो भारत के पास शीर्ष 2 में बने रहने के ज़्यादा मौके हैं. जिसकी वजह ये भी है कि ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ के ठीक बाद उसे इंग्लैंड के खिलाफ़ भी 4 टेस्ट मैचों की घरेलू सीरीज़ खेलनी है. इस लिहाज़ से पूरी संभावना है लॉर्ड्स में होने वाले फ़ाइनल टेस्ट में हमें ऑस्ट्रेलिया और भारत खेलती हुई नज़र आ सकती हैं.

No comments