Breaking News

दर्दनाक हादसा- एंबुलेंस से ले जा रहे थे बेटी का शव, रास्ते में मां और मौसी की भी गई जान

हरियाणा के यमुनानगर के पास एक दर्दनाक हादसे में दो औरतों की जान चली गई। घने कोहरे और एंबुलेंस ड्राइवर की लापरवाही के चलते यह दर्दनाक हादसा हुआ। दरअसल उत्‍तर प्रदेश शामली की रहने वाली 35 वर्षीय अफसाना की तबियत खराब थी। वह चंडीगढ़ में एडमिट थी। बुधवार को उसकी मौत हो गई।

जिसके बाद परिजन उसके शव को चंडीगढ़ से एंबुलेंस के जरिए शामली ले जा रहे थे। एंबुलेंस को चंडीगढ़ निवासी अंकित चला रहा था। एंबुलेंस में अफसाना की मां सलमा के अलावा 59 वर्षीय शकीला, उसका बेटा असलम, अफसाना का देवर दिलशाद और ससुर इशाख, दिलशाद का बेटा सलीम भी था।

परिजनों ने बताया कि चालक काफी तेज एंबुलेंस चला रहा था। रास्‍ते में कई बार उसको टोका लेकिन, वह नहीं माना। सुबह करीब पांच बजे एंबुलेंस कलानौर नया बाईपास पर पहुंची। अचानक गलत दिशा से आ रहे ट्रैक्‍टर से एंबुलेंस टकरा गई। हादसा इतना जबरदस्‍त था कि दूर तक आवाज सुनाई दी।

हादसे के बाद चीख पुकार मच गई। राहगीर मौके पर पहुंचे। पुलिस को भी सूचना दी गई। किसी तरह से एंबुलेंस में फंसे लोगों को बाहर निकाला गया। साथ ही एंबुलेंस को काटकर चालक को निकाला जा सका। कोहरे की वजह से बचाव कार्य में काफी परेशानी आई। हादसे में सलमा और शकीला की मौत हो गई। अंकित और दिलशाद गंभीर रूप से घायल हैं। उन्‍हें सिविल अस्‍पताल में भर्ती कराया गया।

No comments