Breaking News

साधारण सी दिखने वाली ये जड़ी है दुनिया में सबसे गुणकारी, कीमत और फायदे कर देंगे हैरान

साधारण सी दिखने वाली ये जड़ी है दुनिया में सबसे गुणकारी, कीमत और फायदे कर देंगे हैरान

आजकल के बढ़ते प्रदूषण और बदलते जीवन परिवेष के कारण बिगड़ता स्वास्थ लोगों की एक बड़ी चिंता का कारण बनता जा रहा है। एक बड़ी आबादी किसी न किसी बीमारी या समस्या से जूझ रही है। कुछ बमारियां तो ऐसी होती हैं, जिनका मेहंगा और बेहतर इलाज कराना भी निराधार ही रहता है। यह बीमारियां व्यक्ति के मरणोप्रांत उसके साथ ही जाती हैं। लेकिन आज इस खबर को पढ़ने के बाद आप ये जरूर मान लेंगे कि, हर बीमारी ठीक हो सकती है और इन सभी बीमारियों का इलाज करने में भी कोई एक ही चीज सक्षम है। आज हम आपको एक ऐसी दुर्लभ जड़ी बूटी के बारे में बताएंगे, जिसे आयुर्वेद ने शरीर में होने वाली किसी भी समस्या का निवारण माना है।

दुर्लभ जड़ी बूटी की है लाखों में कीमत

भारत एक कृषि प्रधान देश है। पहले के जमाने में यहां हर व्यक्ति अपना उपचार जड़ी बूटियों के माध्यम से ही करता था, लेकिन जैसे-जैसे समय में बदलाव आता गया, हमारे उपचार के तरीके भी अलग अलग हो गए। हम समस्या का तुरंत निराकरण करने के लिए ऐलोपेथ मेडिसिन पर निर्भर होने लगे। आज के समय में भारत के लोग ज्यादातर इन्ही दवाइयों पर निर्भर हैं, लेकिन यह तो आपको पता होगा कि, इन दवाइयों के अपने नुखसान भी हैं, जिनके कारण ज्यादातर मामलों में एक बीमारी का इलाज करने के दौरान इन दवाइयों के साइड इफेक्ट हमें दूसरी समस्याओं से दो-चार करा देता है। हालांकि, कई लोग आज भी औषधीय जड़ी बूटियों पर ही भरोसा करते हैं। आपने भी किसी समस्या के चलते कभी ना कभी जड़ी बूटी का सेवन किया होगा। लेकिन आज हम जिस जड़ी के बारे में बात करने जा रहे हैं, वो कोई मामूली जड़ी-बूटी नहीं, बल्कि एक बेशकीमती और दुर्लभ जड़ी बूटी है। काफी कम मात्रा में पाई जाने वाली ये जड़ी बूटी सिर्फ भारत, नेपाल और चीन के हिमालय क्षेत्रों में पाई जाती है। इसका कारण है कि, इसकी पैदावार सिर्फ ठंडे वातावरण में ही हो सकती है। जड़ी बूटी के जानकारों का मानना है कि, मध्य प्रदेश के पंचमढ़ी के पहाड़ी इलाकों में भी ये जड़ी खोजी गई है। हालांकि इसे आप इंटरनेशनल मार्केट से प्राप्त कर सकते हैं। बाज़ार में इसे "कीड़ा" जड़ी बूटी का नाम दिया गया है। ये बूटी कितनी उपयोगी है इसका अंदाज़ा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि, इंटरनेशनल मार्केट में इसकी कीमत 18 से 20 लाख रुपए प्रति किलो है।

इंटरनेशनल मार्केट में इतनी डिमांड का कारण

आपको बता दें कि, कीड़ा जड़ी बूटी की कीमत इतनी ज्यादा होने के बावजूद भी इंटरनेशनल मार्केट में इसकी डिमांड काफी ज्यादा है। लोग इसकी इतनी कीमत होने के बावजूद भी इसे खरीदने को तैयार रहते हैं।ये तो हुई इस जड़ी बूटी की खूबियां, अब हम जानते हैं, इससे मिलने वाले फायदों के बारें में...।

कीड़ा जड़ी बूटी के फायदे

आयुर्वेद के कई चिकित्सकों का मानना है कि, वैसे तो ये जड़ी बूटी हर बीमारी का निवारण होती है, लेकिन मुख्य रूप से इसका सेवन ब्लड प्रेशर और शुगर जैसी गंभीर बीमारियों से निजात पाने के लिए किया जाता है। जो लोग सांस से संबंधित बीमारी के रोगी हैं, उनके लिए भी कीड़ा जड़ी बूटी वरदान मानी जाती है। चीन में कीड़ा जड़ी बूटी का सेवन ज्यादातर लोगों ने किया है। इसे वहां एक तरह के वेक्सीन की तरह माना जाता है। इसका सेवन अस्थमा, लीवर और किडनी से जुड़ी बीमारियों से राहत पाने के लिए भी किया जाता है। साथ ही, ये थकान, नपुसकता, गुप्त रोग, स्पाइनल और कमर दर्द से आजीवन छुटकारा दिलाने में सक्षम खास औषधि है|

इस्तेमाल की विधि

राजधानी भोपाल स्थित आयुष के आयुर्वेद विभाग के एक चिकित्सक ने बताया कि, इस बेहद कीमती और दुर्लभ जड़ी बूटी को चिकिस्क द्वारा बताए तय समय तक ही खाना चाहिए। उन्होंने कहा कि, मुख्य रूप से इसका काम है कि, ये शरीर में होने वाली किसी भी प्रकार की कमी की पूर्ति करती है। इसका मात्रा और समय का ध्यान रखना भी बेहद ज़रूरी है। चिकित्सक ने बताया कि, एक स्वस्थ व्यक्ति को इसका सेवन 0.3 से 0.7 ग्राम के बीच करना चाहिए। इसका सेवन करने से पहले इसे सुखाकर पावडर फार्म में बनाया जाता है। इसके बाद इसके चूर्ण को पानी या दूध में घोलकर पिया जाता है। इस चूर्ण का अधिक मात्रा में सेवन भी सेहत के लिए नुकसान दायक हो सकता है। क्योंकि, इसका काम है हर कमी को पूरा करना। इसी तरह इसके ज्यादा इस्तेमाल से शरीर के लिए ज़रूरी पोषक तत्वों में कमी या बढ़ोतरी हो सकती है।

No comments