Breaking News

सावधान: अगर आपको भी आता हैं ज्यादा पसीना, तो बिल्कुल भी ना करें नजरअंदाज

सावधान: अगर आपको भी आता हैं ज्यादा पसीना, तो बिल्कुल भी ना करें नजरअंदाज

शरीर के तापमान को सामान्य रखने के लिए शरीर में 25 लाख के करीब पसीने की ग्रंथियां होती हैं। पसीना शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले पदार्थों जैसे एल्कोहल, कोलेस्ट्रॉल और नमक की अतिरिक्त मात्रा को बाहर करने में मदद करता है। कई खतरनाक रोगाणुओं से शरीर का बचाव करता है। लेकिन, बेमौसम या अकारण बहुत पसीना आ रहा है तो संभलने की जरूरत है।

रात में पसीने की कई वजहें हो सकती हैं। माहवारी के वक्त महिलाओं के शरीर में हार्मोनल बदलाव होता है, जिसकी वजह से उन्हें रात में पसीना आता है। ट्यूबरक्युलोसिस (टीबी), कैंसर और डायबिटीज जैसी परेशानियों का भी एक लक्षण रात में पसीना आना होता है। बेहतर है कि ऐसे में डॉक्टर से मिल लें।

हाइपरहाइड्रोसिस से पीड़ित लोगों में पसीने की ग्रंथियां अधिक सक्रिय हो जाती हैं। इसी वजह से ज्यादा पसीना आने लगता है। हमारे यहां करीब 7 से 8 प्रतिशत भारतीय अधिक पसीना आने की समस्या से पीड़ित हैं। स्वेट ग्लैंड यानी पसीने की ग्रंथियों में गड़बड़ी तनाव, गर्भावस्था, धूम्रपान, रजोनिवृत्ति, मोटापे, कुछ दवाओं के असर और कैफीन युक्त चीजों व मसालेदार भोजन के अधिक सेवन से भी हो सकती है। किसी अन्य कारण व किशोरावस्था में शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव भी पसीने की समस्या बढ़ा सकते हैं। चिंता, डर व तनाव आदि में भी ज्यादा पसीना आता है। किसी अच्छे डॉक्टर से मिलें। तनाव व हार्मोनल कारणों की जांच भी की जा सकती है। त्वचा रोग विशेषज्ञ कुछ मामलों में इंजेक्शन व सर्जरी की सलाह भी देते हैं।

अगर पिछले कुछ समय से आपको अधिक पसीना आने लगा है तो यह ट्यूमर और डायबिटीज का संकेत भी हो सकता है। बहुत पसीना आना बीपी व हृदय समस्याओं का संकेत भी हो सकता है। धमनियां अवरुद्ध होने के कारण दिल को ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है।

No comments