Breaking News

8 बैंकों के खाते में 1 अप्रैल से चेक बुक इनवैलिड होने जा रहे हैं, जानें डिटेल

8 बैंकों के खाते में 1 अप्रैल से चेक बुक इनवैलिड होने जा रहे हैं, जानें डिटेल

इन 8 बैंकों में है खाता, तो नई चेकबुक के लिए जल्द दें आवेदन, पुराना चेक हो रहा है बंद : देश में 1 अप्रैल 2021 से 7 बैंकों के चेक बुक इनवैलिड होने जा रहे हैं। ये वे बैंक हैं, जिनका अन्य बैंकों में विलय 1 अप्रैल 2019 और 1 अप्रैल 2020 से प्रभावी हुआ है। इसलिए इन बैंकों के ग्राहकों को सलाह दी गई है कि वे यथाशीघ्र अपनी शाखा में जाएं और नए चेक बुक (apply foe a new cheque book) के लिए आवेदन दें।

किन बैंकों का हुआ था विलय
देना बैंक (Dena Bank) और विजया बैंक (Vijaya Bank) का विलय बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) में हुआ था। यह 1 अप्रैल 2019 से ही प्रभावी हो गया है। वहीं ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank of Commerce) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (UBI) का विलय पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में, सिंडिकेट बैंक (Syndicate Bank) का केनरा बैंक (Canara Bank) में, आंध्रा बैंक (Andhra Bank) व कॉरपोरेशन बैंक (Corporation Bank) का यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank of India) में और इलाहाबाद बैंक (Allahabad Bank) का इंडियन बैंक (Indian Bank) में विलय हुआ है। यह एक अप्रैल 2020 से प्रभाव में आया।

क्यों जरूरी है चेक बुक

आप जब बैंक में सेविंग खाता (Saving Account) या करेंट खाता (Current Account) खुलवाते हैं तो आपको कई सुविधाएं मिलती हैं। इन्हीं सुविधा में से एक है चेक बुक (Cheque Book)। चेक की सहायता से आप इच्छित राशि किसी व्यक्ति को भेज सकते हैं। आपको यदि खुद बैंक जाने की फुर्सत नहीं है तो किसी अन्य व्यक्ति को चेक दे कर भेज कर पैसे निकलवा सकते हैं। यदि किसी को भुगतान करना हो तो आप संबंधित पार्टी को चेक काट कर दे सकते हैं।

नया चेक बुक क्यों लेना है जरूरी

आपके लिए चेक का लीफ या चेक बुक भले ही एक फाइनेंसियल इंस्ट्रुमेंट (Financial Instrument) हो, लेकिन किसी चेक बुक या उसके लीफ पर ढेरों जानकारी होती है। इसमें इंडियन फाइनेंसियल सर्विस कोड (IFSC), मैग्नेटिक इंक करेक्टर रिकोगनिशन (MICR) कोड आदि छपा होता है। आज के डिजिटल युग में ढेरों काम इन्हीं कोड की सहायता से पूरे होते हैं। आपके पास जो पुराना चेक बुक है, उसमें पुराने बैंक का ही आईएफएससी और एमआईसीआर कोड छपा है। उस बैंक के दूसरे बैंक में मर्ज हो जाने के बाद उसका सभी कोड बदल गया है। इसलिए आपको नया चेक बुक लेना जरूरी है।

कब तक मान्य है पुराना चेक बुक

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) और बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB) पहले ही कह चुके हैं कि OBC, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, विजया बैंक और देना बैंक की मौजूदा चेक बुक 31 मार्च 2021 तक ही मान्य होंगे। इसी तरह मर्ज हो चुके अन्य बैंकों के ग्राहक भी मौजूद चेकबुक, पासबुक से केवल 31 मार्च तक ही काम चला सकेंगे। इन बैंकों के ग्राहकों को हर हाल में एक अप्रैल 2021 से नया चेक बुक लेना होगा।

इस बैंक के ग्राहकों को कुछ मोहलत

सिंडीकेट बैंक (Syndicate Bank) के ग्राहकों के मामले में थोड़ी मोहलत मिली है। केनरा बैंक (Canara Bank) पहले ही कह चुका है कि सिंडीकेट बैंक की मौजूदा चेक बुक्स 30 जून 2021 तक मान्य रहेंगी। उसके बाद नया चेक बुक लेना ही होगा। इस बैंक के भी ग्राहक चाहते हैं कि उन्हें निर्बाध सेवा मिलती रहे तो इसी में भलाई है कि वह भी नया चेक बुक पाने के लिए आवेदन दे ही दें।

नया चेक बुक कितने दिनों में मिलेगा

बहुत साल पहले तक बैंक की शाखा में चेक बुक का बंडल पड़ा रहता था। जिन ग्राहक को चेक बुक चाहिए, उन्हें यह दे दिया जाता था। उसमें ग्राहक अपना खाता नंबर खुद भरते थे या बैंक कर्मी भर कर देते थे। आजकल, सभी बैंक अपने ग्राहकों को कस्टमाइज्ड चेक बुक देते हैं। कस्टमाइज्ड चेक बुक का मतलब चेक के हर लीफ पर ग्राहक का खाता नंबर छपा होता है। जिनके नाम पर खाता होता है, उनका नाम भी चेक के हर लीफ पर छपा होता है। इस चेक बुक को विशेष तौर पर उसी ग्राहक के लिए छापा जाता है, जिसके नाम पर खाता है। बैंक अधिकारियों का कहना है कि शाखा में आवेदन मिलने के बाद अमूमन 10 दिनों में नया चेक बुक छप कर आ जाता है।

No comments