Breaking News

क्या गर्मियों में पसीना बहाने से मोटापा कम होता है, जानिए विज्ञान क्या कहता है?

क्या गर्मियों में पसीना बहाने से मोटापा कम होता है, जानिए विज्ञान क्या कहता है

कई लोगों का मानना है कि पसीने के साथ तेजी से कैलोरी बर्न होती है जिससे कि मोटापा कम होता है। बता दें कि इस बात में कोई सच्चाई नहीं है। पसीना केवल शरीर के तापमान को बैलेंस करने का काम करता है। गर्मियों में बॉडी के तापमान को मेन्टेन करने के लिए पसीना आता है। सर्दियों में, जब आप कसरत करते हैं तब भी बॉडी को कूल रखने के लिए पसीना आता है। वजन का बढ़ना हमारी जीवनशैली पर निर्भर करता है। जब हम रोजाना खाने में आवश्यकता से ज्यादा कैलोरी लेते हैं तो वो बॉडी में फैट के रूप में एकत्र हो जाता है। इसी की वजह से वजन बढ़ता है।

अक्सर लोगों को आपने कहते सुना होगा कि गर्मियों का मौसम वजन घटाने के लिए काफी अनुकूल होता है। आमतौर पर लोगों का मानना है कि गर्मी के मौसम में पसीने के साथ ही कैलोरी भी निकल जाती है। कई जिम ट्रेनर ये सलाह देते दिख जाएंगे कि अगर वजन घटाना चाहते हो तो सुनहरा समय शुरू हो चुका है। कर लो अभी जितनी मेहनत कर सकते हो। कई तो ऐसे भी होते हैं जो एसी और फैन ऑफ करके आपसे वर्कआउट करने को कहते हैं। आप भी जल्दी वजन कम करने के लिए बिना कुछ सोचे समझे पत्थर की लकीर की तरह उसकी बात मान लेते हैं। आइए जानते हैं कि इस बात में कितनी सच्चाई है?

विज्ञान के मुताबिक, ह्यूमन बॉडी में फैट एडिपोज टिशू के रूप में एकत्र होता है। जब भी शरीर को खाना नहीं मिलता है तो कुछ समय तक बॉडी इसी फैट को ब्रेक कर ऊर्जा लेती रहती है। इससे हमारा मोटापा कम होता है। इसलिए अगर आप गर्मियों या सर्दियों में जब कभी भी वजन घटाने के लिए कसरत करें तो उसके परिणाम बराबर ही होंगे। वजन घटाने की प्रक्रिया पर गर्मी या सर्दी का कोई प्रभाव नहीं होता है।

No comments