Breaking News

ब्राह्मणों को गंगा घाट पर बुलाकर किया योगी सरकार का पिंडदान, मुख्यमंत्री के फोटो पर पहनाई माला

ब्राह्मणों को गंगा घाट पर बुलाकर किया योगी सरकार का पिंडदान, मुख्यमंत्री के फोटो पर पहनाई माला

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में ब्राह्मणों को धोखे से बुलाकर गंगा घाट पर योगी सरकार का पिंडदान करने का मामला सामने आया है। दलन छपरा गांव के निवासी पांच ब्राम्हणों मंटू पांडेय, राम दर्शन पांडेय, सुधाकर मिश्रा, श्रीकृष्ण पांडेय और सत्यसेन तिवारी ने मंगलवार को रेवती थाने में तहरीर दी। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

तहरीर में उन्होंने लिखा है कि साहब! हमें धोखे से गंगा घाट पर बुलाया, माला पहनाई, पांव भी धोए, दान-दक्षिणा भी दी और हमारे आने के बाद वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फोटो रखकर प्रदेश सरकार का पिंडदान कर दिया। यही नहीं सुनियोजित तरीके से पूरे कार्यक्रम का वीडियो व फोटो बनवाकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। पुलिस ने तहरीर के आधार पर कथित सपा नेता ब्रजेश यादव को हिरासत में लिया है।

पांचों ब्राम्हणों ने तहरीर में कहा है कि बीते आठ मार्च को गांव के ही बृजेश यादव पुत्र बलिराम यादव हमारे दरवाजे पर आए। उन्होंने कहा कि गंगा पूजन कराना चाहते हैं। गांव के होने के कारण हम तैयार हो गए। इसके बाद ब्रजेश व उनके भाई बबलू यादव हमें अपनी कार से पचरुखिया गंगा घाट पर ले गए। वहां गंगा पूजन किया और दान दक्षिणा देकर वापस भेज दिया।

इस दौरान पूरे कार्यक्रम का वीडियो बनाया गया और फोटो खींचे गए। जब हम लोग वहां से लौट आए तो वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फोटो रखकर पिंडदान कर दिया और हमारे पांव पूजन आदि के वीडियो के साथ उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। जब गांव के लोगों से हमें इसकी जानकारी हुई तो हम अपने को आहत व ठगा महसूस कर रहे हैं। इस प्रकार झूठ का सहारा लेकर झांसा देकर धोखा देना और खुद पापुलर होने के लिए ऐसा कृत्य करना दंडनीय अपराध है। कार्रवाई कर हमें न्याय दिलाएं।

रेवती थाना प्रभारी यादवेंद्र पांडेय ने बताया कि तहरीर मिलने के बाद शांति भंग होने की आशंका में ब्रजेश यादव को गिरफ्तार में लिया है। अभी पूछताछ की जा रही है। अब आगे की कार्रवाई अधिकारियों के निर्देश के अनुसार जाएगी।

No comments