Breaking News

हिमाचल: प्रदेश में कुल्लू महिला थाना को मिला सर्वश्रेष्ठ पुलिस स्टेशन अवार्ड, पढ़ें पूरी खबर..

हिमाचल: प्रदेश में कुल्लू महिला थाना को मिला सर्वश्रेष्ठ पुलिस स्टेशन अवार्ड, पढ़ें पूरी खबर..





हिमाचल प्रदेश में महिला थाना कुल्लू को सर्वश्रेष्ठ महिला पुलिस स्टेशन का अवार्ड मिला है। देवभूमि कुल्लू में महिला थाना कुल्लू की स्थापना 18 अप्रैल 2016 को हुई थी। तब से महिला थाना कुल्लू की टीम ने जघन्य अपराधों पर अंकुश लगाया है। साल 2020 मे 32 मुकदमे भिन्न-भिन्न धाराओं के तहत इस थाने दर्ज किये गये हैं, जिसमे अनेक नाबालिग लड़कियों को रेसक्यू किया गया है‌।

वहीं एसपी कुल्लू गौरव सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना काल मे 2020 में महिला थाना कुल्लू मे कुल 461 शिकायत पत्र प्राप्त हुए थे, जिनका समय पर निपटारा किया गया। जिन में 19 मनचले व्यक्तियों को गिरफ्तार करके उन पर कार्यवाही अमल मे लाई गई और 54,500/- रूपये का जुर्माना भी करवाया गया है। इसी के साथ रात्रि नाका के दौरान नशे मे वाहन चलाने वाले 58 चालकों के चालान किये गये हैं‌। गश्त के दौरान 172 व्यक्तियों के बिना मास्क के चालान भी किये गये है तथा 89,000/- रूपये जुर्माना वसूला गया है।

इसी के साथ जिला कुल्लू के स्कूलों, संस्थानों व महिला मंडलों, कालेजों व समाजिक संस्थाओं मे समय-समय पर भ्रमण करके वहां पर महिलाओं व छात्राओं को महिलाओं के विरूध हो रहे अत्याचार तथा अपराध, महिलाओं के कानूनी अधिकार, साइबर क्राइम, अपराधों की रोकथाम के लिए कानूनी जानकारी भी दी गई है। स्कूलों और प्रशिक्षण संस्थानों के छात्रों को नशे के दुष्प्रभाव के बारे भी जानकारी दी गई। इसी के साथ पति-पत्नी के मामलों में दोनों पक्षों और रिश्तेदारो की काउंसलिग करवा कर परिवार को जोड़ने का भी क्षभरसक प्रयास किया गया है। महिला थाना कुल्लू की अपनी कोई भी सीमा और क्षेत्राधिकार नहीं है। यहां पर जिला कुल्लू की किसी भी थाना के क्षेत्राधिकार की पीड़ित महिला अपने ऊपर हो रहे अपराध/प्रताड़ना की रिपोर्ट और शिकायत दर्ज करवा सकती है‌‌। महिला थाना कुल्लू इसके अलावा कई NGO’s के साथ जुड़ा है जिन से महिला थाना मे आई कई बेसहारा महिलाओं व बच्चों को आर्थिक सहायता भी दिलाई जाती है। कुल्लू पुलिस ने 15 अगस्त 2019 को शक्ति स्कवायड का शुभारम्भ किया गया था, जिसके तहत प्रत्येक दिन कालेज, स्कूलों, प्रशिक्षण संस्थानो के पास गश्त व जागरूकता गतिविधि की जाती है।

No comments