Breaking News

चिंतपूर्णी मंदिर में ‘चोर दरवाजे’ से दर्शन के लिए होमगार्ड ने SDM से मांगी रिश्वत, गिरी गाज

चिंतपूर्णी मंदिर में ‘चोर दरवाजे’ से दर्शन के लिए होमगार्ड ने SDM से मांगी रिश्वत, गिरी गाज

हिमाचल प्रदेश के शक्तिपीठ चिंतपूर्णी मंदिर में चोर दरवाजे से दर्शन के लिए एक दुकानदार और होमगार्ड जवान ने एसडीएम (SDM) से ही घूस मांग ली. उस होमगार्ड जवान को ड्यूटी से हटा दिया गया है और उसके खिलाफ जांच के आदेश भी दिए गए हैं.

दरअसल, रविवार को एसडीएम अम्ब मनेश यादव ने दोपहर ढाई बजे औचक निरीक्षण किया. अपनी गाड़ी के बिना सामान्य नागरिक बनकर आए एसडीएम जब लिफ्ट वाली साइड पहुंचे तो यहा सबसे पहले कुछ दुकानों के अंदर बने उन चोर रास्तों का दौरा किया जो मंदिर के साथ मेन बाज़ार से मिलते हैं. यही नहीं, यंहा एक दुकानदार के नौकर ने शॉर्टकट तरीके से दर्शन करवाने के लिए सामान्य नागरिक बनकर आए एसडीएम से 11सौ रुपए की रिश्वत मांग ली. जब एसडीएम दुकान के अंदर बने रास्ते से मेन बाज़ार पहुंचे तो देखा श्रदालुओं की लाइन लगी हुई थी. यहां पर डयूटी दे रहे होमगार्ड जवान ने एसडीएम अम्ब से लाइन में घुसने के 500 रुपए मांग डाले.

थाना प्रभारी को मौके पर बुलाया मंदिर में चल रही इस हरकत को देख एसडीएम अम्ब मनीष यादव भड़क गए. वे मंदिर अधिकारी अभिषेक भास्कर के साथ लिफ्ट वाली साइड पहुंचे. उन्होंने मौके पर थाना प्रभारी को बुलाया और मंदिर के साथ लगती चार दुकानों को सील करने के आदेश दिए इसके बाद आसपास दुकानदारों में अफरा तफरी मच गई. दरअसल एसडीएम को कोई पहचान नहीं सका और डयूटी पर तैनात होमगार्ड जवानों ने एसडीएम को एक साधारण श्रदालु समझकर उन्हें दर्शन पर्ची लेकर लाइन में लगने को कहा.

बहरहाल एसडीएम ने चिंतपूर्णी पुलिस को दुकानें सील करने के आदेश दिए, और जब पुलिस ने दुकानों को सील करने की कारवाई शुरू की तो दुकानदारों ने एसडीएम से विनती की और कहा अब दोबारा ऐसा नहीं करेंगे. ग़ौरतलब है कि लम्बे समय से मिल रही थी कि रविवार और छुट्टी वाले दिनों में श्रदालुओं की भारी भीड़ के कारण मंदिर में चोर दरवाजों से दर्शन करवाए जाते हैं.

जब एसडीएम दुकान के अंदर बने रास्ते से मेन बाज़ार पहुंचे तो देखा श्रदालुओं की लाइन लगी हुई थी

डीसी को भेजी गई रिपोर्ट चिंतपूर्णी मंदिर में दर्शन के लिए एसडीएम अंब से रिश्वत की मांग मामले में होमगार्ड पर गाज गिरी है. होमगार्ड जवान को एसडीएम अंब मनेश यादव के निर्देश पर डयूटी से हटा दिया गया है और उस होमगार्ड को बटालियन भेज दिया गया है. होमगार्ड की रिपोर्ट बनाकर डीसी ऊना को भेज दी गई है. तीन घंटे के लिए दुकानें सील की गई थी.

No comments