Breaking News

पाकिस्तान का खास समुदाय, जहाँ 150 साल तक जीते है लोग

पाकिस्तान का खास समुदाय, जहाँ 150 साल तक जीते है लोग

हमारे दादा परदादा के जमाने में लोग 80 से 90 साल तक आसानी से जीते थे, वो भी बिना किसी शारीरिक समस्या के | लेकिन समय के साथ लोगो की दिनचर्या में परिवर्तन आया है | जिस वजह से लोग इतना नहीं जी पाते है | इस अनियमित जीवनशैली की वजह से आज ज्यादातर लोग किसी न किसी शारीरिक समस्या से पीड़ित है | लेकिन पाकिस्तान में रहने वाला एक समुदाय ऐसी परेशानियों से कोसो दूर है |

पाकिस्तान की हुंजा घाटी में बसे हुंजा समुदाय के लोग शारीरिक रूप से काफी मजबूत होते है | जिस वजह से उन्हें हॉस्पिटल का मुंह देखना नहीं पड़ता है | बता दे इस समुदाय के लोगो का औसतन जीवनकाल 120 साल माना जाता है | इनकी इसी खासियत की वजह से इन पर कई किताबे लिखी जा चुकी है |

एक वेबसाइट के अनुसार हुंजा समुदाय की महिलाये 60 से 90 की उम्र तक बिना किसी परेशानी के गर्भवती हो सकती है | इतना ही नहीं इस समुदाय की महिलाओ को दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला का ख़िताब दिया गया है | बता दे हुंजा समुदाय के लोगो को बुरुशो कहा जाता है, वहीँ इनकी भाषा बुराशास्की कहलाती है |


जानकारी के अनुसार हुंजा समुदाय के लोग मुस्लिम धर्म को मानते है | लेकिन हुंजा समुदाय के लोग पाकिस्तान के किसी भी समुदाय के लोगो से कहीं ज्यादा शिक्षित होते है | हुंजा समुदाय में करीब 85 हजार लोग रहते है |

जानकारी के लिए बता दे पाकिस्तान की हुंजा घाटी पाकिस्तान के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है | दुनियाभर से लोग इस घाटी को निहारने के लिए आते है | इस घाटी की ख़ूबसूरती पर कई किताबे भी लिखी जा चुकी है | जिनमे 'द हेल्दी हुंजाज' और 'द लॉस्ट किंगडम ऑफ़ द हिमालयाज' शामिल है |

हुंजा समुदाय के लोगो की लम्बे जीवनकाल को राज उनकी जीवनशैली में छिपा है | ये लोग सुबह 5 बजे उठ जाते है | ये गाड़ियों का इस्तेमाल भी बेहद कम करते है, ये ज्यादातर पैदल ही चलते है |

खानपान की बात करे तो ये बाजरा, कुट्टू और गेंहू का आटा खाते है, जिस वजह से उनका शरीर मजबूत बनता है | मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक रखने के बावजूद भी ये मांस का सेवन किसी खास अवसर पर ही करते है | लेकिन उस समय भी ये हिसाब से ही उसका सेवन करते है |

No comments