Breaking News

हिमाचल: बढ़ते कोरोना के चलते प्रदेश के ऐतिहासिक मंदिरों और किलों में 15 मई तक लोगों का प्रवेश बंद

हिमाचल: बढ़ते कोरोना के चलते प्रदेश के ऐतिहासिक मंदिरों और किलों में 15 मई तक लोगों का प्रवेश बंद

कोरोना महामारी के चलते भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने हिमाचल प्रदेश के प्राचीन ऐतिहासिक मंदिर और सभी किले लोगों के लिए 15 मई तक बंद कर दिए हैं। आपको बता दें कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के दिल्ली स्थित कार्यालय से ये आदेश जारी हुए हैं। इनमें लाहौल का प्राचीन मृकला देवी मंदिर, बैजनाथ शिव मंदिर, सिद्धनाथ मंदिर, कुल्लू जिले में दशाल स्थित गौरीशंकर मंदिर, गौरीशंकर मंदिर नग्गर, विशेश्वर महादेव मंदिर बजौरा, गौरीशंकर मंदिर जगतसुख, मनाली का देवी हिडिंबा का मंदिर, मंडी जिले में पंचवक्त्र मंदिर, अर्द्धनारीश्वर, बरसेला और त्रिलोकीनाथ मंदिर आदि शामिल है।

वहीं इनके अलावा कांगड़ा और नूरपुर का किला, सुजानपुर का ऐतिहासिक टिहरा का महल और नर्वदेश्वर मंदिर भी बंद रहेगा। वहीं आपको बता दें कि मंदिरों में हर रोज की तरह समयानुसार आरती होगी। मंडी में पुरातत्व विभाग के संरक्षक लक्ष्मी ढोबी ने इस बारे में जानकारी दी है। उधर, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, गुजरात, राजस्थान और पंजाब राज्य से आने वाले पर्यटकों के लिए सरकार की ओर से कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट लाने की सलाह देने के बाद प्रदेश में पर्यटक नदारद हो गए हैं।

भले ही इन सात राज्यों से आने वाले लोगों की कोविड रिपोर्ट प्रदेश की सीमाओं पर तैनात पुलिस कर्मियों से लेकर होटलों के कर्मचारी तक चेक नहीं कर रहे हैं,

लेकिन इस आदेश के चलते होटलों में एडवांस बुकिंग कम होने के साथ साथ, रद्द भी होने लगी है। वहीं अब होटलों में आक्यूपेंसी भी आधे से कम हो गई है। वहीं होटल मालिकों ने कहा कि कोरोना रिपोर्ट चेक करने के लिए हमारे पास विशेषज्ञ नहीं हैं, इसलिए सरकार इसकी व्यवस्था करे।

ये भी पढ़े : Post office की इस स्कीम में पैसा करें दोगुना, मिलेंगे 2 लाख के 4 लाख रु

ये भी पढ़े :  IPL 2021 से पहले कैफ ने की भविष्यवाणी, बताया कौन सी टीम जीतेगी इस बार IPL का खिताब

ये भी पढ़े : LIC: एक बार पैसा लगाकर जिदंगीभर मिलती रहेगी 8000 पेंशन

ये भी पढ़े : सूरत के व्यापारी ने अपनी 2 माह की बेटी के लिए चांद पर खरीदी जमीन!

ये भी पढ़े :  LIC का नया प्लान: बेटी के लिए जमा करें केवल 150 रुपए, कन्यादान पर मिलेंगे 22 लाख रुपए

ये भी पढ़े : बेटी का सुहाग बचाने आगे आई मां, सास ने किडनी देकर दामाद को दिया नया जीवन

No comments