Breaking News

नक्सलियों से लोहा लेते हुए 22 जवान शहीद, किसी ने भाई, किसी ने बेटा, किसी ने अपने पापा को खोया

नक्सलियों से लोहा लेते हुए 22 जवान शहीद, किसी ने भाई, किसी ने बेटा, किसी ने अपने पापा को खोया

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शनिवार को नक्सलियों के साथ मुठभेड़ के बाद 21 जवान लापता हो गए थे। रविवार को घटनास्थल के पास से 17 सुरक्षाबलों के शव बरामद कर लिए गए हैं। इसके साथ ही शहीद होने वाले जवानों की संख्या 22 हो गए हैं।
एसपी बीजापुर कमलोचन कश्यप ने बताया कि नक्सली हमले में 22 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली में जान गंवाने वाले जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की

पूरा मामला छत्तीसगढ़ के बीजापुर-सुकमा बॉर्डर पर तररेम में नक्सलियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ में पिछले दिन भारत माता के 5 जवान शहीद हो गए थे। वहीं जवानों ने नौ नक्सलियों को भी ढेर कर दिया।

आईजी बस्तर पी सुंदरराज ने जानकारी देते हुए बताया था कि DRG और CRPF के जवानों की नक्सलियों के साथ मुठभेड़ जिसमें डीआरजी के 3 और सीआरपीएफ के 2 जवान शहीद हो गए। वहीं जवाबी कार्रवाई में जवानों ने 9 नक्सलियों को मार गिराया है।






2 फरवरी 2021 को लोकसभा में नक्सली घटनाओं को लेकर सरकार से जानकारी मांगी गई थी। उस समय गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने जवाब देते हुए कहा था कि नक्सली घटनाओं में कमी हुई है। 2018 में 833 नक्सली घटनाएं हुईं, 2019 में ये घटकर 670 रह गईं, 2020 में ये घटकर 665 हो गईं।

लेकिन, छत्तीसगढ़ में नक्सली घटनाएं बढ़ी हैं। तीन साल में 2018-20 तक छत्तीसगढ़ में 970 नक्सली घटनाएं हुईं जिनमें 113 सुरक्षाबल शहीद हुए।

आपको बता दें कि एसटीएफ, डीआरबी, सीआरपीएफ और कोबरा के लगभग 400 सुरक्षाबल नक्सल विरोधी अभियान में जुटे हुए हैं। मार्च में नक्सलियों ने जवानों से भरी बस में आईईडी ब्लास्ट किया था जिसमें 5 जवान शहीद हो गए थे।

No comments