Breaking News

जितना कड़वा है, शरीर के लिए उतना ही गुणकारी है नीम, जानिए नीम का जूस पीने के फायदे

जितना कड़वा है, शरीर के लिए उतना ही गुणकारी है नीम, जानिए नीम का जूस पीने के फायदे

वैसे तो नीम का स्वाद हर किसी को काफी कड़वा लगता है, लेकिन आयुर्वेद के अनुसार इसे स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा माना जाता है। यहाँ तक कि नीम का इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवाई के रूप में भी किया जाता है, तो ऐसे में हर किसी को नीम का सेवन जरूर करना चाहिए। जी हां नीम के रस को एक गिलास में डाल कर इसे दवा समझ कर पी ले, इससे आपको कभी लाभ मिलेगा। हालांकि जिन लोगों को नीम कड़वा लगता है वे नीम के रस में थोड़ा सा मसाला मिला सकते है, क्यूकि नीम स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद तो होता है, लेकिन काफी कड़वा भी होता है। इसलिए इसके कड़वेपन से बचने के लिए इसमें नमक या काली मिर्च दोनों डाल कर भी इसका सेवन कर सकते है।

स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है नीम का रस : गौरतलब है कि नीम को तीस मिनट से ज्यादा स्टोर करके नहीं रखना चाहिए और इसे पीते समय नाक को दबा ले, इससे नीम का रस पीने में आसानी होगी। बता दे कि नीम के रस का सेवन अगर आप सुबह करेंगे तो ज्यादा फायदा होगा। आप चाहे तो नीम का जूस बना कर उसका सेवन कर सकते है, इससे आपका वजन भी कम हो जाएगा। चलिए अब आपको बताते है कि नीम का जूस कैसे बनाना है। इसके लिए दो सौ पचास ग्राम नीम की पत्तियां, एक लीटर पानी और स्वाद के अनुसार निम्बू का रस लीजिये।

इसे बनाने के लिए नीम की पत्तियों को धो कर इसमें जरूरत अनुसार पानी डाल कर रात भर भिगोएं। इसके बाद सुबह इसे मिक्सी में पीस ले और तैयार किये गए पेस्ट में पानी तथा निम्बू का रस का डाल कर छननी से छान ले और बोतल में भर कर रख दे। बहरहाल इस जूस को आप दो तीन दिन तक पी सकते है और इससे आपका वजन जरूर कम होगा। अब अगर हम इसके बाकी फायदों की बात करे तो वो कुछ इस प्रकार है।

नीम के रस के कई फायदे 


मुंहासों की समस्या से छुटकारा : बता दे कि नीम में एंटी इंफ्लेमेट्री तत्व पाएं जाते है, जो त्वचा को निखारने का काम करते है और मुहांसों से मुक्ति दिलाते है।

पीलिया में फायदेमंद : बता दे कि नीम की पत्तियों के रस को शहद में मिला कर आधा चम्मच लेने से पीलिया में काफी फायदा होता है और इसे कान में डालने से कान से संबंधित रोगों से भी छुटकारा मिलता है।

गंदगी को करे साफ: गौरतलब है कि नीम का रस शरीर के अंदर की गंदगी को साफ करने में मदद करता है, जिससे न केवल त्वचा साफ होती है, बल्कि बाल भी चमकते है और पाचन तंत्र भी अच्छा होता है।

शुगर के रोगी जरूर पीएं : बता दे कि जो शुगर के मरीज है उन्हें नीम का रस जरूर पीना चाहिए, इससे उनका ब्लड शुगर लेवल एकदम कण्ट्रोल में रहेगा।

आँखों की रोशनी बढ़ाएं : बता दे कि नीम के रस की दो बूंदे आँखों में डालने से आँखों की रोशनी तेज होती है और अगर आपको कन्जंगक्टवाइटिस हो जाएँ तो वह भी ठीक हो जाता है।

खून को करे साफ : बता दे कि नीम एक रक्त शोधक औषधि है, जो बुरे कोलेस्ट्रॉल को नष्ट या कम कर देती है। ऐसे में नीम का महीने में दस दिन तक सेवन करने से हार्ट अटैक की बीमारी से बचा जा सकता है।

कई बीमारियों से छुटकारा दिलाएं नीम का रस 

पायरिया में लाभकारी : जिन लोगों को मसूड़ों में खून आने की शिकायत है, उन्हें नीम के तने की भीतरी छाल या पत्तों को पानी में भिगो कर कुल्ला करना चाहिए, इससे काफी फायदा होता है। इसके इलावा नीम के फूलों से काढ़ा बना कर पीने से भी लाभ होता है और हर रोज नीम का दातुन करने से दांतों के अंदर के कीटाणु भी नष्ट हो जाते है और दांत तथा मसूड़े मजबूत होते है।

मलेरिया में फायदेमंद : बता दे कि नीम वायरस के विकास को रोकता है और लीवर के कार्य करने की क्षमता को मजबूत करता है। इसलिए ये मलेरिया के रोग से छुटकारा दिलाने में फायदेमंद है।

प्रेगनेंसी में मददगार : बता दे कि प्रेगनेंसी के दौरान नीम का रस प्राइवेट पार्ट में होने वाले दर्द को कम करता है और कई महिलाएं तो डिलीवरी के दौरान होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए नीम के रस से मसाज करवाती है। इसके इलावा बच्चे को जन्म देने वाली महिला को बच्चे को जन्म देने के बाद से ही नीम के पत्तों का रस कुछ दिनों तक नियमित रूप से पिलाने से गर्भाशय संकोचन और रक्त की सफाई होती है। इसके साथ ही गर्भाशय और उसके आस पास के अंगों की सूजन कम हो जाती है और भूख भी लगती है।

यहाँ तक कि दस्त साफ होता है और बुखार नहीं आता और अगर आता भी है तो ज्यादा नहीं होता। बहरहाल अब तो आप समझ गए होंगे कि नीम स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है और इसके गुणकारी फायदे हासिल करने के लिए आपको इसका सेवन करना ही चाहिए।

No comments