Breaking News

आज से बदल जाएंगे बैंक से जुड़े ये अहम नियम, आपकी जेब पर भी पड़ेगा सीधा असर

आज से बदल जाएंगे बैंक से जुड़े ये अहम नियम, आपकी जेब पर भी पड़ेगा सीधा असर

आज वर्तमान वित्त वर्ष यानि 2020-21 का आखिरी दिन है. कल यानि अगले वित्त वर्ष 2021-22 के शुरू होते ही बैंक से जुड़े कई नियम बदल जाएंगे और इन नियमों के बदलने से आपकी जेब पर भी सीधा असर होगा. पैन कार्ड, ईपीएफ और पुरानी चेक बुक को लेकर कल से नियम बदल रहे हैं. साथ ही एक अप्रैल से हवाई जहाज में सफर करने पर आपको अपनी जेब भी ढीली करनी पड़ सकती है. कल से स्टील की कीमत भी बढ़ जाएगी. जानिए क्या-क्या बदलाव होने वाले हैं.

ये भी पढ़े : IPL Match List 2021, 9 अप्रैल को शुरुआत और 30 मई को होगा फाइनल

बैंक से जुड़े नियम-


पैन कार्ड- अगर आप आज अपने पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक नहीं कराते हैं तो कल से आपका पैन का निष्कर्य हो जाएगा. साथ ही जुर्माना भी लगेगा. भारत सरकार ने पहले आधार और पैन कार्ड लिंक नहीं करने पर एक हजार रुपए लेट फीस तय की थी. वहीं नए सेक्शन 234H (फाइनैंस बिल) के मुताबिक, इन दोनों दस्तावेजों के लिंक नहीं होने पर 1000 रुपये तक जुर्माना देना पड़ेगा. यह लेट फी एक निष्क्रिय पैन कार्ड रखने पर लगने वाली पेनल्टी से अलग होगी.

चेकबुक- कल से देना बैंक, विजया बैंक, कॉपपोरेशन बैंक, ऑरोएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, आंध्रा बैंक, यूनाइटेड बैंक और इलाहाबाद बैंक की पुरानी चेकबुक मान्य नहीं होंगी. इन सभी बैंकों का विलय हो गया है. इन बैंकों ने अपने ग्राहकों को नई चेकबुक जारी कर दी है. हालांकि सिंडीकेट बैंक की चेकबुक तीस जून तक मान्य होगी.

इनकम टैक्स रिटर्न- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2021 में इनकम टैक्स को लेकर बड़ा एलान किया था. जिसके मुताबिक, कल एक अप्रैल से 75 साल या इससे ज्यादा उम्र के वरिष्ठ नागरिकों को इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने से छूट मिलेगी.

टीडीएस-
एक अप्रैल से फ्रीलांसर्स, टेक्निकल सहायक जैसे नॉन सैलरीड क्लास के लोगों को ज्यादा टैक्स देना पड़ सकता है. अभी इन लोगों की कमाई से 7.5 फीसदी टीडीएस कट रहा है, जो अब 10 फीसदी हो जाएगा. दूसरी तरफ आयकल की धारा 206 बी के तहत जो लोग रिटर्न नहीं भरेंगे, उन्हें एक अप्रैल के बाद दोगुना टीडीएस भरना पड़ सकता है.

ईपीएफ- आयकर विभाग के नए प्रावधानों के मुताबिक, एक अप्रैल से पीएफ में सालाना ढ़ाई लाख से ज्यादा जमा पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स लगेगा. बड़ी बात यह है कि दो लाख रुपए हर महीने से ज्यादा वेतन पाने वाले लोग भी इसके दायरे में आएंगे.

आपकी जेब होगी ढीली- महंगा हुआ हवाई सफर-

नागर विमानन महानिदेशालय ने एयरपोर्ट सिक्योरिटी फीस बढ़ा दी है. घरेलू यात्रियों के लिए एयरपोर्ट सिक्योरिटी फीस में 40 रुपए और अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के 114.38 रुपए का इजाफा किया गया है. बढ़ी हुई नई दर 1 अप्रैल 2021 या 1 अप्रैल के बाद जारी किए गए टिकटों पर लागू होंगे. एयरपोर्ट सिक्योरिटी फीस करीब सभी यात्रियों से वसूली जाती है.

बढ़ेंगी स्टील की कीमतें इंटरनेशनल मार्केट में स्टील की कीमतों में बढ़ोतरी को देखते हुए एक अप्रैल से घरेलू दाम में भी बढ़ोतरी की जा सकती है. जेएसडब्ल्यू स्टील, जेएसपीएल, एम/एनएस और टाटा स्टील हॉट रोल्ड क्वायल यानी एचआरसी के दाम में चार हजार रुपये टन की बढ़ोतरी हो सकती है. घरेलू मार्केट में कच्चे माल में तेज बढ़ोतरी और ओडिशा में उत्पादन में आई गिरावट की वजह से स्टील के दाम में तेजी आ रही है.

सैलरी का Tax Free और टैक्सेबल पार्ट नए नियमों के मुताबिक, Basic सैलरी, स्पेशल अलाउंस, बोनस आदि पूरी तरह टैक्सेबल हैं. वहीं, फ्यूल एंड ट्रांसपोर्ट, फोन, अखबार और किताबों आदि के लिए मिलने वाले भत्ते पूरी तरह टैक्स फ्री हैं. वहीं, HRA पूरी तरह या फिर उसका कुछ हिस्सा Tax Free हो सकता है. साथ ही बेसिक सैलरी के 10% के बराबर NPS कॉन्ट्रीब्यूशन भी टैक्स फ्री है. वहीं, ग्रैच्युइटी में 20 लाख रुपये तक की राशि टैक्स फ्री है.

बढ़ सकते हैं LPG सिलेंडर के भाव हर महीने की पहली तारीख सरकार LPG सिलेंडर के रेट को रिवाइज करती है. मार्च 2021 में राजधानी दिल्ली में एलपीजी सिलेंडर का भाव 769 रुपये से बढ़कर 819 रुपये हो गया था. चूंकि, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में तेजी देखने को मिल रही है, इसीलिए अब उम्मीद है कि 1 अप्रैल से एलपीजी​ सिलेंडर के भाव एक बार फिर से बढ़ सकते हैं.

ITR फाइलिंग को बढ़ावा देने के लिए नियम सख्त ITR फाइल नहीं करने वालों को नए वित्त वर्ष के शुरू होते ही मुश्किलें बढ़ जाएंगी. सरकार ने ITR फाइलिंग को बढ़ावा देने के लिए नियमों को सख्त कर दिया है. सरकार ने ITR फाइल करने के नियम को इनकम टैक्स की धारा 206एबी से जोड़ दिया है. इसके तहत अगर आप इनकम टैक्स के दायरे में हैं और आपने आटीआर फाइल नहीं किया तो आपको दोगुना टीडीएस देना पड़ सकता है.

LTC में छूट केंद्र सरकार (Central Government) ने लीव ट्रैवल कंसेशन या एलटीसी कैश वाउचर स्कीम का ऐलान कर दिया है. इस स्कीम के तहत, कोई भी कर्मचारी एलटीसी अलाउंस के तहत छूट क्लेम कर सकता है. ये तय गुड्स व सर्विसेज खरीदने पर ही मिलेगा. यह स्कीम केवल 31 मार्च 2021 तक की लागू है. इसका मतलब है कि यह स्कीम अब खत्म हो जाएगा.

एलटीसी इनकैशमेंट : अवकाश यात्रा रियायत (एलटीसी) वाउचर के तहत कर्मचारियों को मिलने वाले छूट की अवधि 31 मार्च, 2021 तक की है। यानी अगले महीने से इसका लाभ नहीं लिया जा सकेगा।

ग्रैच्युटी अवधि : नए श्रम कानून के तहत ग्रैच्युटी की समय-सीमा कम होगी। मालूम हो कि एक कंपनी में लगातार पांच साल तक काम करने पर ग्रैच्युटी का लाभ मिलता है।

ई-इनवॉयस अनिवार्य : बिजनेस टू बिजनेस (बीटूबी) कारोबार के तहत पहली अप्रैल से ऐसे सभी कारोबारियों के लिए ई-इनवॉयस अनिवार्य हो जाएगा, जिनका टर्नओवर 50 करोड़ रुपये से अधिक है।





No comments